Posts

Showing posts from December 31, 2015

बीएसनल नेटवर्क बना समास्या: लिंक फैल, नही हो पा रहा हे बैको का काम

Image
खनियॉधाना। जिले के खनियाधाना नगर मे एस बी आई बैंक की दो शाखाये स्थापित है एक गॉधी चोक और दूसरी थाने रोड पर दोनों बैंको की तीन दिन से लींक फैल होने से उपभोगता बराबर परेसान हो रहे है और बैंको को रोज  लाखो का नुकसान हो रहा है।
ैपर खनियाधाना के बी एस एन एल के अपसर चेन काट रहे है और फ ोन उठाने के नाम पर कभी फ ोन उठाते नही और बीएसएनएल की सेवाओं में आए दिन गड़बड़ी के चलते लोग परेशान हो रहे हैं
 स्थानीय एस बी आई बैंक गॉधी चोक और एस बी आई थाने रोड बाली बैंक में तीन दिनो से लिंक फेल की समस्या के चलते ग्राहक व कर्मचारी लगातार चक्कर लगा रहे हैं पिछले तीन दिन से बीएसएनएल का कोई कर्मचारी सुध लेने वाला नहीं आया बैंकों की ब्रांचों में प्रतिदिन काम पेंडिंग होता जा रहा हैं 
इससे बैंक कर्मचारियों को भी परेशानी हो रही है और ग्राहक को भी ज्यादा परेशान होना पड रहा हैं तथा कई  ग्राहकों के यहां विवाह जैसे आदि कार्यक्रम है और तीन दिनो से आय दिन बैंकों के चक्कर लगा रहे है 

नगर के बडे बडे ब्यापरियों का कहना है कि बीएसएनएल की ब्रांडबैंड सेवा फेल होने के कारण पिछले 3 दिनों से वह बैंक से अपना ट्राजेक्सन नहीं कर पा…

वर्ष 2015 में शिवुपरी के देवस्थानो के लिए रहा महत्वपूर्ण

Image
शिवपुरी। वर्ष 2015 शिवपुरी जिले के देवस्थानों के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण वर्ष रहा। इस वर्ष में न केवल देवस्थानों के लिए अच्छी खासी राशि स्वीकृत की गई अपितु बड़ी सं या में जीर्णोद्वार के प्रस्ताव भी भेजे गए।
वाणिज्य, उद्योग एवं रोजगार, सार्वजनिक उपक्रम, खेल एवं युवा कल्याण, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया के म.प्र.शासन के प्रयासों से विगत वर्ष जिले के देवस्थानों के लिए रूपए 34.7 लाख रूपए स्वीकृत किए गए है।
जिसमें शिवपुरी तहसील के 16 देवस्थानों के लिए 25.45 लाख, कोलारस के दो देवस्थानों के लिए 2.12 लाख, पोहरी तहसील के दो देवस्थानों के लिए 2.82 लाख, नरवर के एक देवस्थान के लिए 0.91 लाख तथा पिछोर के दो देवस्थानों के लिए 3.47 लाख रूपए की राशि स्वीकृत की गई है।
 इसके पूर्व वर्ष 2009-10 में नरवर के दो देवस्थानों के लिए 1.46 लाख रूपए स्वीकृत किए गए थे।
वर्ष 2015 के आखिरी तिमाही में जिले में बड़ी सं या में देवस्थानों के जीर्णोद्वार के प्रस्ताव तैयार कर शासन को भेजे गए है। शिवपुरी नगर का महत्वपूर्ण देवस्थान श्री सिद्धेश्वर महादेव मंदिर जीर्णोद्वार, सौंदर्यीकरण, धर्मशाला…

पार्षद आकाश पर चैक बाउंस का मामला दर्ज

Image
शिवपुरी। शहर के वार्ड क्रं.09 के पार्षद आकाश शर्मा पर उधार लिए गए ऋण को नहीं चुकाने के मामले में माननीय न्यायालय द्वारा मामला दर्ज करने के आदेश जारी किए है। इस मामले में परिवादी की ओर से पैरवी अभिभाषक गजेन्द्र सिंह यादव द्वारा की गई।
प्रकरण अनुसार पार्षद आकाश शर्मा ने अंजू बंसल निवासी पुरानी शिवपुरी से बतौर 01 लाख 50 हजार रूपये उधार ऋण के रूप में लिए थे। जिसके बदले में आकाश ने अंजू बंसल को चैक प्रदाय किया था। 
अंजू बंसल द्वारा जब अपनी राशि को लेने के लिए उक्त चैक को बैंक में भुगतान हेतु प्रस्तुत किया तो चैक बाउंस होकर वापिस बिना भुगतान के अंजू बंसल को प्राप्त हो गया। 
इसके बाद अपने अभिभाषक गजेन्द्र सिंह यादव के माध्यम से उक्त धनराशि की मांग के लिए पार्षद आकाश शर्मा को नोटिस भेजा। जो आकाश शर्मा ने जानबूझकर प्राप्त नहीं किया। 
इसके बाद नोटिस की समयावधि बीत जाने के बाद परिवादी अंजू बंसल ने अपनी राशि प्राप्त करने के लिए माननीय न्यायालय की शरण ली और अपने अभिभाषक गजेन्द्र सिंह यादव के माध्यम से परिवाद प्रस्तुत किया। 
उक्त परिवाद पर से आरोपी वार्ड क्रं.09 के पार्षद आकाश पुत्र महेन्द्र शर्मा …

मुन्नालाल FIR मामले में समाज का समर्थन, सौंपा ज्ञापन

Image
शिवपुरी ब्यूरो। बीपीएल राशन कार्ड मामले में नगर पालिका अध्यक्ष मुन्नालाल कुशवाह के विरूद्ध एफआईआर दर्ज होने के विरोध में कांग्रेस के बाद अब उनका कुशवाह समाज भी उनके बचाव में सामने आया है। 
कुशवाह समाज के  सैकड़ों लोगों ने जिनमें कांग्रेसी और भाजपाई दोनों ही दलों के लोग थे, ने नगर के प्रमुख मार्गो से रैली निकालकर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक आलोक सिंह और डिप्टी कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। 
ज्ञापन में कुशवाह समाज ने नपाध्यक्ष को निर्दोष बताते हुए सीआईडी जांच की मांग की है और आरोप लगाया है कि श्री कुशवाह के विरूद्ध षड्यंत्र में राजनैतिज्ञों के अलावा नगर पालिका के अधिकारी और कर्र्मचारी तथा भ्रष्टाचार उन्मूलन समिति के अध्यक्ष अशोक सम्राट भी शामिल हैं।
 और इस षड्यंत्र में प्रशासनिक अधिकारियों का इस्तेमाल किया गया है ताकि कांग्रेस पार्टी की छवि को धूमिल किया जा सके। कुशवाह समाज ने ज्ञापन जिलाध्यक्ष हरि सिंह कुशवाह जो भाजपा नेता है के नेतृत्व में प्रशासन और पुलिस को सौंपा। 
कुशवाह समाज के लोग आज दोपहर 12 बजे एचडीएफसी बैंक के सामने एकत्रित हुए और इसके बाद उन्होंने नगर…

तहसील में पदस्थ बाबू रिश्वत लेते हुए कैमरे में कैद

Image
शिवपुरी।तहसील कार्यालय में नायब तहसीलदार मानसिंह रावत के न्यायालय में पदस्थ बाबू रूपकिशोर अष्ठाना सहायक ग्रेड 3 एक प्रकरण की तारीख को आगे बढ़ाने के एवज में रिश्वत लेते हुए कैमरे में कैद हो गये।
जिसकी जांच तहसीलदार एलएन मिश्रा करने की बात कह रहे हैं। तहसीलदार श्री मिश्रा ने इस आशय की पुष्टि भी की है। उनका कहना है कि बाबू रूप किशोर अष्ठाना द्वारा रिश्वत लिये जाने की सूचनायें उन्हें कई बार प्राप्त भी हुई।
लेकिन बाबू रंगे हाथों नहीं पकड़ा गया और आज उन्हें जानकारी मिली है कि वह रिश्वत लेते कैमरे में कैद हो गए हैं। जिसकी जांच की जाएगी और रिश्वत लेने वाले बाबू पर नियम संगत कार्यवाही भी की जाएगी।

मुन्नालाल फिर संकट में, फर्जी प्लॉट बेचने के मामले में मामला दर्ज करने की मांग

Image
शिवपुरी। बीपीएल राशन कार्ड मामले में नपाध्यक्ष मुन्नालाल कुशवाह के खिलाफ आरटीआई लगाने वाले भ्रष्टाचार उन्मूलन समिति के अध्यक्ष अशोक सम्राट ने आज पत्रकार वार्ता बुलाकर एक नए मामले का खुलासा किया है। 
अशोक  सम्राट ने 25 साल पुराना मामला खंगाल कर मुन्नालाल के विरूद्ध प्रकरण दर्ज करने की मांग की है। उनका कहना है कि मुन्नालाल ने 25 साल पहले 28 अप्रैल सन् 1990 में चार-चार हजार रूपए कीमत के एक-एक हजार वर्ग  फिट के तीन प्लाट कुल 12 हजार रूपए में श्रीमती मेहरूनिशा खांन को बेचा था। 
लेकिन 25 साल बाद जब श्रीमती खांन ने नामांतरण के लिए तहसीलदार को रजिस्ट्री सौंपी तो स्पष्ट हुआ कि विक्रेतागण के नाम कोई भूमि नहीं है। श्री सम्राट ने पत्रकार वार्ता में श्रीमती खांन के पति को पेश किया। 
पत्रकार वार्ता में बताया गया कि मुन्नालाल कुशवाह ने प्लाटों की रजिस्ट्री पावर ऑफ अर्टोनी की हैसियत से की थी उक्त जमीन बादामीलाल रावत और मुरारीलाल रावत के नाम बताई गई थी। उक्त भूमि सर्वे न बर 1484 रकबा 2 बीघा आठ विश्वा जिसका नवीन सर्वे न बर 2224 ग्राम सिंहनिवास के भाग की है। 
श्री सम्राट से जब पूछा गया कि 25 साल बाद क्र…

बाईक डिवाईडर से टकराई, तीन घायल

Image
शिवपुरी। बीती रात्रि सुरवाया थाना क्षेत्र के अमोला घाटी के पास एक बाईक अनियंत्रित होकर डिवाईडर से टकरा गई। जिससे उस पर सवार तीन युवक गंभीर रूप से घायल हो गए। 
जिनमें से एक युवक को ग्वालियर रैफर किया गया। जबकि दो का इलाज जिला चिकित्सालय में चल रहा है। उक्त तीनों घायल डबरा में हुई गमी में शामिल होकर वापस शिवपुरी लौट रहे थे। तभी यह घटना घटित हुई। 
प्राप्त जानकारी के अनुसार घायल लक्ष्मण शाक्य की बहिन के ससुर की मौैत हो जाने के बाद गमी में शामिल होने के लिए लक्ष्मण अपने भाई याली शाक्य और मित्र प्रताप कुशवाह के साथ मोटर साइकिल क्रमांक एमपी 33 एमके 0238 से डबरा गया हुआ था। 
शाम के समय तीनों बाईक से वापस लौट रहे थे तभी रात्रि 8:30 बजे जैसे ही वह अमोला घाटी से निकल कर आगे आये तभी बाईक चला रहा प्रताप कुशवाह बाईक से नियंत्रण खो बैठा और बाईक अनियंत्रित होकर डिवाईडर से टकरा गई।
 इस घटना में प्रताप की गंभीर रूप से घायल हो गया। जबकि पीछे बैठे लक्ष्मण और याली को भी काफी चोटें आई हैं। जिनका इलाज चिकित्सालय में चल रहा है। जबकि प्रताप को चिकित्सकों ने ग्वालियर रैफर कर दिया है।

बाईक नहीं दी तो भूसे में लगाई आग

Image
शिवपुरी। सतनवाड़ा थाना क्षेत्र के ग्राम कांकर में विगत दिवस खेत में रखे भूसे में लगाई गई आग के मामले में पुलिस ने दो आरोपियों के खिलाफ प्रकरण पंजीबद्ध किया है। 
उक्त आरोपियों ने स्वयं ही शराब के नशे में अपना अपराध स्वीकार कर लिया। इसके बाद फरियादी ने थाने में पहुंचकर आरोपियों की शिकायत दर्ज करा दी। 
फरियादी विक्रम पुत्र दयाचंद यादव निवासी कांकर के खेत में विगत 25 दिसम्बर को अज्ञात कारणों के चलते आग लग गई थी। जिससे विक्रम का दस क्विंटल भूसा जलकर राख हो गया था। 
लेकिन यह जानकारी नहीं लग पाई थी कि किस तरह से भूसे में आग लगी है और कल गांव में रहने वाले लखन गोस्वामी और मुकेश बाथम नामक युवक ने शराब के नशे में विक्रम के पास पहुंचकर उसे बताया कि घटना बाले दिन उससे उन्होंने बाईक मांगी थी, लेकिन उसने बाईक देने से इन्कार कर दिया। 
जिसका परिणाम उसे भूसे में लगी आग के नुकसान से भुगताना पड़ा। आरोपियों द्वारा बताये जाने पर विक्रम ने थाने पहुंचकर दोनों आरोपी लखन और मुकेश के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई। जिस पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 435, 34 भादवि का प्रकरण पंजीबद्ध कर लिया है।

याद रहेगा जल आंदोलन | आम आदमी बन गया था भागीरथ, लगे थे रानी नही पानी चाहिए के नारे

Image
ललित मुदगल/शिवपुरी। वर्ष 2015 को अलविदा कहने को समय आ गया है। लेकिन यह साल शिवपुरी के नागरिको के माथे से यह ठप्पा मिटा गया कि यह के नागरिक अपने हक के लिए लड नही सकते। इस वर्ष हुआ शिवपुरी का जलआंदोलन सालो तक याद रखा जाऐगा। 
जेसा कि विदित था,नगर के पार्षद से लेकर लोकसभा के चुनाव वर्षो से  पानी  के मुद्दे पर लडे जाते रहे है। परन्तु परन्तु शहर के नागरिको कंठ प्यासे के प्सासे। प्रस्तावित सिंध जलावर्धन योजना पर काम करने वाली कंपनी दोशियान काम छोडकर भाग गई थी। 
राजनीति की ओर से केवल प्रेसनोट ही जारी हो रहे थे धरातल पर कुछ नही, मजाक बन गए थे शहर के नागरिक,शहर के लोकल नेता हो या चुने हुए प्रतिनिधि शहर के प्यासे कंठो की भावनाओ से खेल रहे थे। 
लेकिन अचानक पब्लिक पर्लिया मेंट ने जलआंदोलन शुरू किया और देखते ही देखते पूरा शहर इस मंच को समर्थन देने आ गया। हालाकि इस मामले में जलावर्धन योजना को पुन: शुरू कराने के लिए एक जनहित याचिका शहर के एडवोकेट पीयूष शर्मा हाईकोर्ट में लगा रखी थी। 
पब्लिक पार्लिया-मेंट के द्ववारा शुरू किए इस आंदोलन को शहर के लगभग सभी समितियो और संस्थाओ ने अपना समर्थन दिया और शहर अप…

अवैध उत्खन्न करते पकडे 6 ट्रेक्टर, क्रेंशरो के लिए किया जा रहा थ उत्खन्न

Image
बदरवास। तहसील मुख्यालय से 7 किलोमीटर दूर हाईवे किनाारे स्थित बामौर-धुआई में राजस्व भूमि से किए जा रहे काले पत्थर के अवैध उत्खनन को रोकने बुधवार की दोपहर एसडीएम कोलारस जा पहुंचे। एसडीएम का वाहन देखते ही ट्रेक्टर वालों में भगदड़ मच गई। प्रशासन ने 6  ट्रैक्टरों को पकड़कर बदरवास थाने पहुंचा दिया।
बताया गया है कि यह ट्रेक्टर पूर्व सरपंच व भाजपा नेता के दो ट्रैक्टरों सहित अन्य प्रभावशाली लोगों के ट्रैक्टर शामिल हैं। पकड़े गए ट्रैक्टरों के खिलाफ मायनिंग विभाग ने प्रकरण बना कर वाहन पुलिस की सुपुदज़्गी में दे दिए। 
जानकारी के अनुसार आज दोपहर लगभग 2 बजे एसडीएम कोलारस आर के पांडेय अपने वाहन से बामौर-धुआई में उस जगह पर जा पहुंचे, जहां क्रेशर की गिट्टी बनाने के लिए काले पत्थर का अवैध उत्खनन किया जा रहा था। 
जिस जगह पर उत्खनन किया जा रहा था, वहां गहरे गडढे हो जाने की वजह से ट्रैक्टर आधे ही नजर आ रहे थे। जैसे ही एसडीएम की गाड़ी वहां पहुंची, ट्रैक्टरों में पत्थर भरवा रहे लोगों में हड़क प मच गया। 
स्थिति यह बनी किए एक ट्रैक्टर तो भागने के फेर में एसडीएम की गाड़ी की ठीक सामने ही आ गया। लेकिन एसडीएम के …

कबाड़ घोटाले में मंडी सचिव दोषी पाए गए

Image
शिवपुरी। कोलारस कृषि उपज मंडी में नियमों की अनदेखी कर बिना टेंडर प्रक्रिया के ही लाखों रुपए के कबाड  बेचने के मामले में सचिव सहित अन्य कर्मचारी सहायक संचालक की रिपोर्ट में दोषी पाए गए हैं। अब कार्रवाई के लिए रिपोर्ट वरिष्ठ अिधकारियों को भेजी गई है। 
कोलारस कृषि उपज मण्डी में कबाड़ बेचे जाने के मामले में मंडी के सचिव दिलासाराम पराशर एवं उनके अन्य सहयोगियों की मुश्किलें लगातार बडती जा रही हैं। 
उक्त मामले में कोलारस एसडीएम राघवेन्द्र पाण्डेय ने पहले ही अपने प्रतिवेदन में मण्डी के कर्ता धर्ताओं को पहले ही दोषी करार देते हुए कबाड़ की नीलामी की संपूर्ण प्रक्रिया को ही नियम विरुद्ध बता चुकें हैं।
इसके बाद मंडी में मार्केटिंग सोसायटी के मनोनीत सदस्य रामस्वरूप रिझारी की शिकायत पर संयुक्त संचालक कृषि उपज मंडी ग्वालियर द्वारा सहायक संचालक अनिल शर्मा के नेतृत्व में एक जांच दल गठित किया गया था।
उक्त जांच दल ने अपनी रिपोर्ट में कोलारस एसडीएम के प्रतिवेदन को सही मानते हुए विभिन्न पहलुओं की जांच के उपरांत मंडी सचिव और उनके अमले को इस पूरी प्रक्रिया में दोषी मानते हुए फाइनल रिपोर्ट के लिए संयुक्त संचा…