Ad Code

शिवपरी में पिछले 100 वर्षो से संचालित है रेड लाइट एरिया

शिवपुरी। पुरानी शिवपुरी का रेडलाइट एरिया देशभर में देह व्यापार के लिए चर्चित है। लगभग 100 वर्षों से यहां बेडिय़ा जाति की युवतियां देह व्यापार के पेशे में संलग्न है। बैराड़ क्षेत्र के डाबर का पुरा, टोरिया का पुरा गांव की ये युवतियां यहां देह व्यापार कर रही हैं।

एक जमाने में पुरानी शिवपुरी के रेड लाइट एरिया जिसे बजरिया मोहल्ला कहा जाता है में मुजरों की रौनक और बहार रहती थी, लेकिन अब यहां मुजरों के स्थान पर खुलेआम देह व्यापार होता है और इस अवैध कारोबार में सैंकड़ों युवतियां संलग्न है।

अनेक बार सामाजिक और प्रशासनिक मुहिम चलाकर इन युवतियों को देह व्यापार छोड़कर समाज की मु य धारा में लाने की पहल की गई, लेकिन परिणाम कुछ नहीं निकला। पुलिस स ती से भी रिजल्ट शून्य रहा।

दुर्भाग्य की बात यह है कि बेडिय़ा जाति में एक तरह से देह व्यापार को सामाजिक मान्यता प्राप्त है। इस समाज में कुछ अविवाहित युवतियों को देह व्यापार के चंगुल में ढकेल दिया जाता है और वह युवती फिर पूरे परिवार का भरण पोषण करती है।

इस समाज के अधिकांश युवा अपनी बहिनों पर आश्रित रहते हैं और एक तरह से उनके बॉडीगार्ड का काम करते हैं। वहीं दूसरी ओर इस समाज में विवाहित युवतियां इस गलीज पेशे से दूर रहती हैं और घर में घूंघट के बीच खाने बनाने से लेकर बच्चों के पालन पोषण का कार्य करती हैं।

बेडिय़ा समाज की युवतियां अरब देशों तक की शोभा बढ़ा चुकी हैं और देश के मु बई, मेरठ, दिल्ली, लखनऊ सहित अनेक महानगरों में देह व्यापार का कार्य कर रही हैं। पांच वर्षों से पूर्व पुरानी शिवपुरी के बजरिया मोहल्ले में मुजरों की धूम हुआ करती थी और देह व्यापार से ये युवतियां परहेज करती थीं। लेकिन अब खुलेआम यहां देह व्यापार हो रहा है और अधेड़ महिलाएं इस व्यापार को संचालित कर रही हैं।

अपने धंधे को चमकाने के लिए वह दूर दूर से नाबालिग लड़कियों को लाकर इस गंदे पेशे में ढकेल रहीं हैं। सुबह से लेकर देर रात तक यहां देह व्यापार का कारोबार ाुलेआम होता है इसमें बताया जाता है कि पुलिस का भी हिस्सा रहता है।