किसानों को साल भर से नहीं मिले फसलों के दाम, सोसायटी के फेरे लगा रहे है | Badarwas, Shivpuri News

बदरवास। किसानो की दम पर कांग्रेस ने भाजपा को सत्ता से बहार किया था,प्रदेश के नाथ कमलनाथ ने सत्ताा की कुर्सी संभालते हुए किसानो की ऋण माफी योजना का ऐलान किया था,सरकार लगातार किसानो के हित की योजनाओ लागू कर रही है,लेकिन किसानो की योजनाओ में पतीला लगाने का काम सरकार के कर्मचारी कर रहे हैं।

इसका जीता जागता उदाहरण जिले के बदरवास क्षेत्र से आ रहा हैं। बदरवास सोसायटी के अधिकारी कर्मचारियों के द्वारा पिछले साल मध्यप्रदेश सरकार के द्वारा समर्थन मूल्य पर चना, सर्सो,मसूर, की किसानों की फसलों को सरकारी कांटे लगा कर खरीदा गया था इसमें अधिकांश किसानों को अपनी अपनी फसलों की राशि मिल गई थी,लेकिन एक साल बीत जाने के बाद भी कई किसानो को अपनी उपज के दाम नही मिले हैे। 

जिला अधिकारियों का कहना है की बदरवास सोसायटी को हमने   किसानों की फसलों के रुपये भेज दिये हैं। लेकिन बदरवास सोसायटी प्रबंधक कहता है की ऊपर से रुपये नहीं आये हैं मे कहा से रुपये डालदूं आखिर किसानों की फसलों का रुपया आखिर किसके पास है या सब अधिकारीयों की मिली भगत है जिससे किसान दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर है।

इन किसानो के नाम सामने आ रहे है जिन्है आज तक अपनी उपज के दाम नही मिले हैं
(1)सिया बाई यादव 151000 (2)भरत सिंह यादव सुमैला 149000 (3)मांगीलाल ओझा 170000 (4)कृष्णभान यादव 16000 (5)आनंदपाल यादव 176000 (6)शिवनंदन यादव मांगरोल 165000 (7) राज भाई 165000 (8) शिवनंदन यादव सिघांखेडी 101000 (9) तोफान सिंह सिघांखेडी 125000

किसान शिवनंदन यादव, मांगीलाल ओझा का कहना है 
हमें एक साल बीत जाने के बाद भी हमारी फसलों का रुपया हमको नहीं मिला है हमने साहूकारों से रुपये ले,ले कर अपना अपने बच्चों एवं परिवार का भरणपोषण अब तक तो कर लिया है लेकिन अब तो साहूकारों ने भी रुपये दैने से मना कर दिया है क्योंकि अब उन्हें भी विश्वास नहीं हो रहा है की हमें हमारी फसल के रुपये नहीं मिलेंगे अब तो उन्होंने भी उधार लिए रुपयों को मांगना सुरु कर दिया है अब हम कहां से उन्हें उधारी के रुपये लोटायें अब तो हमारे पास एक ही विकल्प बचा है हम सह परिवार आत्मा हत्या करलें जिससे हम इस मुसीबत से छुटकारा मिल जाएगा

किसान सिया बाई यादव मांगरोल का कहना है की अगले महीने मेरी नातनी की शादी है मेरे पास घर में एक भी पैसा नहीं है चना की फसल के एक लाख इक्यावन हजार रुपये मुझे आज तक नहीं मिले अब मे कैसे मेरी नातनी की शादी करूंगी

इनका कहना है 
बदरवास सोसाइटी मैनेजर मनोज परिहार का कहना है की ऊपर से पैसा नहीं आया है में क्या कर सकता हूँ जब भी पैसा आ जाएगा में तुरंत किसानों के खाते मे रुपये डलबा दूंगा

इनका कहना है
जिला प्रबंधक सोसायटी चिमन सिहं का कहना है कि हमने बदरवास प्रबंधक को नोटिस भेजा है तीन दिन के अंदर राशि जमा कराएं नहीं तो उनके ऊपर कार्यवाही की जाएगी.

Comments

Popular posts from this blog

Antibiotic resistancerising in Helicobacter strains from Karnataka

जानिए कौन हैं शिवपुरी की नई कलेक्टर अनुग्रह पी | Shivpuri News

शिवपरी में पिछले 100 वर्षो से संचालित है रेडलाईट एरिया