भदैयाकुंड: कपल्स के लिए वरदान से कम नही है इस कुंड में स्नान करना

शिवपुरी। शिवपुरी शहर का पर्यटक स्थल अपने झरने और रमणीय स्थल के लिए तो मशहूर है। इसके अलावा कहा जाता है कि कपल्स के लिए इस कुंड में साथ स्नान करना एक वरदान है। बताया जाता है कि इस कुंड के पानी से नहाने से कपल्स में प्यार बढ़ता है। लाइफ में कभी ऐसे मोड़ भी आ जाते हैं कि छोटी सी बात प्यार करने वालों के बीच बड़ी दरार बन जाती है और वो दरार ऐसी कंडीशन बना देती है कि उसे भरने वालों में दूरियां बन जाती है। 

यदि कपल्स ब्रेकअप की समस्या से परेशान है तो उनके लिए यह खबर राहत भरी है। शहर के पर्यटक स्थल भदैयाकुंड के पानी में स्नान करने से ब्रेकअप की झंझट खतम हो जाती है।

कभी नहीं होगे रास्ते अलग
जब पार्टनर्स को लगता है कि अब सबकुछ खत्म हो गया तो वे तनाव और दर्द के दौर से गुजरते हैं। ऐसे में लड़कियां तो घर पर रहती हैं और तड़पते दिल के साथ आंसू बहाती है। वहीं लडक़े भी गम में डूबे रहते हैं। बताया जाता है कि इस बात से निपटने के लिए सबसे उत्तम है यह कुंड। इस जगह जाने के बाद कपल्स में कैसा भी झगड़ा क्यों न हो, वह एक पल में सुलझ जाएगा और हमेशा दोनों में प्यार बना रहेगा।

चट्टानों में है चमत्कार
इतिहास के जानकार डॉ. अशोक मोहिते बताते हैं कि उन्होंने इस स्थान का बड़ा ही नजदीक से अनुभव किया है। हर रोज यहां दर्जनों की तादाद में कपल्स पहुंचते हैं और स्नान करते हैं। शिवपुरी के इस झरने में चमत्कार की मुख्य वजह चट्टानों से बहकर कुंड में आना वाला पानी है। पूर्व की एक किवदंती है कि दो प्रेमी जोड़ों ने यहां पर तप किया था और वरदान प्राप्त किया था कि इस कुंड में जो भी नहाए उसका प्रेम और भी प्रगाढ़ हो जाए, तबसे यहां मान्यता चली आ रही है। 

गौ-मुख का पानी में है रहस्य
भदैयाकुंड में नीचे की तरफ एक गौमुख बना हुआ है जिसमें 12 महीने पानी निकलता रहता है जिसके लिए कहा जाता है कि किसी को नहीं पता कि गौमुख में पानी आने का स्त्रोत क्या है। यह पानी इतना शुद्ध है कि पहले इस पानी को बड़े-बड़े कंटेनरों में पैक करके विदेशों में ले जाया जाता था। लोग कहते हैं कि गौमुख से निकलने वाला पानी बहुत ही शीतल और स्वादिष्ट होता है। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics