ShivpuriSamachar.COM

Bhopal Samachar

फिनोलेक्स के अधिकारियों ने केबल जांची, नकली निकली,FIR की तैयारी | Shivpuri News

शिवपुरी। भ्रष्टाचार का काण्ड लिख चुकी नपा में अभी नकली केवल मामले ने तुल पकडा था। नपा में सप्लाई की गई फिनोलेक्टस कंपनी की केवल की जांच करने फिनोलेक्स के मार्केटिंग और टेक्निकल अधिकारी आज नपा शिवपुरी पहुचे और इस केवल की जांच की तो नकली पाया। बताया जा रहा है इस मामले में शिवपुरी नपा सीएमओ और कंपनी के अधिकारियोें ने कोतवाली में इस मामले में इस केवल के सप्लायर के खिलाफ मामला दर्ज करने को लेकर एक आवेदन कल दे सकते हैं। 

रविवार की सुबह नपा में सप्लाई की गई फिनोलेक्स कंपनी की नकली केवल को लेकर कंपनी के एमडी मयूर गौतम व असि मैनेजर मुकेश राऊत पहुंचे और सीएमओ सहित स्टोर प्रभारी श्री जाट के साथ नपा उपाध्यक्ष अन्नी शर्मा से मुलाकात की और इसके बाद उन्होंने गोदाम में रखी नकली केवल को देखा और उसके बाद उन्होंने जप्त गोदाम की सील को खुलवाया और वहां रखे केवल के बंडल भी चैककिए इतना ही नहीं बस्ट की गई केवलों का बारीकी से परीक्षण कर देखा तो वह भी नकली पाई गई। 

कंपनी के अधिकारियों ने नपा उपाध्यक्ष और सीएमओ से कहाकि यहां इतनी बडी मात्रा में नकली केवल को खपाया गया है जबकि टेंडर हमारी कंपनी का स्वीक्रत हुआ था ऐसे में जिस भी ठेकेदार के द्वारा यह नकली केवल सप्लाई की गई है उसके विरूद्ध कार्रवाई का एक पत्र नपा सीएमओ को दिया और कोतवाली में भी कंपनी के अधिकारी एफआईआर दर्ज कराने पहुंचे। जहां पूरे दस्तावेजों को देखकर टीआई सहित पुलिस अधीक्षक को उपलब्ध कराये। बताया जाता है कि कल तक ठेकेदार के विरूद्ध प्रकरण दर्ज किया जा सकता हैं। वही पुलिस का कहना हैं कि उक्त लोग आए थे लेकिन आवेदन नही दे गए हैंं। 

बड़ा प्रमाणित भ्रष्टाचार उजागर हुआ हैं जिसमें शहर में संचालित नलकूपों में डाली जाने वाली विद्युत केबिल का ठेका शहर की मंगल पाईप एण्ड सेंनेट्री सप्लायर फर्म को दिया गया हैं और टेंडर की शर्त के अनुसार नगर पालिका में फिनोलेक्स कंपनी की केवल सप्लाई करना थी। लेकिन ठेकेदार ने अन्य कंपनी से नकली केबिल मंगाकर उस पर फिनोलेक्स लिखवाकर उसको सप्लाई कर दिया इस बात की जांच के दौरान की जा चुकी हैं। 

उल्लेखनीय है कि ठेकेदार द्वारा की गई नकली केबल की आपूर्ति की बजह से बार-बार केबल फुकने से जहां शहर में जलापूर्ति प्रभावित होती हैं वहीं नागरिकों को भी भारी परेशानी का सामना करना पड़ता हैं। 

वहीं पूर्व की परिषद में जब नकली केवल का मामला उछला था तभी सभी पार्षदों ने सर्व सम्मति से वैधानिक कार्यवाही की मांग रखी थी। फिनोलेक्स कंपनी द्वारा स्पष्ट रूप से कहा गया है कि ये केबिल हमारे यहां की नहीं है। पार्षदों की मांग एवं कंपनी द्वारा नकली करार दिए जाने पर ठेकेदार के विरूद्ध एफआईआर दर्ज की जा सकती हैं। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

-----------

analytics