ShivpuriSamachar.COM

Bhopal Samachar

कर्मचारियों ने यशोधरा राजे सिंधिया से OPS के लिए समर्थन मांगा | Shivpuri News

शिवपुरी । पुरानी पेंशन योजना बहाली को लेकर म.प्र. में कर्मचारियों ने मोर्चा खोल दिया है। राष्ट्रीय पेंशन योजना बहाली संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष जितेन्द्र सिंह एवं प्रदेश अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौहान के आव्हान पर संघ के पदाधिकारियों ने रविवार को पूर्व खेल युवक कल्याण एवं धर्मश्य मंत्री, शिवपुरी विधायक यशोधरा राजे सिंधिया को मुख्यमंत्री को सम्बोधित ज्ञापन सौंपकर समर्थन पत्र मांगा। 

ज्ञात हो कि सम्पूर्ण म.प्र. में पुरानी पेंशन योजना 2005 के बाद नियुक्त सभी कर्मचारियों को शीघ्र बहाल किये जाने को लेकर एक अभियान चलाया गया है जिसके तहत सभी विधायकों एवं सांसदों को पेंशन बहाली को लेकर समर्थन पत्र मांगे जा रहे हैं। 

कर्मचारियों की ओर से यह ज्ञापन राष्ट्रीय पेंशन योजना बहाली संगठन के जिला संयोजक राजकुमार सरैया ने नवीन जिलाध्यक्ष कमलकिशोर शर्मा के साथ कर्मचारियों की उपस्थिति में शिवपुरी विधायक यशोधरा राजे सिंधिया को सौंप समर्थन पत्र मांगा। 

राष्ट्रीय पेंशन योजना बहाली संगठन के विपिन पचौरी एवं सुनील वर्मा ने आगे की जानकारी में बताया कि राष्ट्रीय पेंशन योजना बहाली संगठन शिवपुरी के जिलाध्यक्ष के पद पर कमलकिशोर शर्मा का मनोनयन जिला संयोजक राजकुमार सरैया की अनुशंसा पर हुआ है। श्री शर्मा ने जिलाध्यक्ष  मनोनीत होने के साथ ही पूर्व मंत्री एवं शिवपुरी विधायक को ज्ञापन सौंप अपने पदीय दायित्व की शुरूआत की है। कमल किशोर शर्मा के जिलाध्यक्ष बनने पर कर्मचारियों ने बधाईयां प्रेषित की है।

बधाई देने बलों मेें प्रमुख रूप से कर्मचारी कांग्रेस के जिला उपाध्यक्ष अरविन्द सरैया, एनएमओपीएस कोर कमेटी के प्रदेश सदस्य मनमोहन जाटव, आजाद अध्यापक संघ के पूर्व जिलाध्यक्ष संजय भार्गव राष्ट्रीय, एनएमओपीएस के जिलाध्यक्ष जनकसिंह रावत, राज्य अध्यापक संघ के पोहरी ब्लॉक अध्यक्ष कपिल पचौरी, रोजगार सहायक संघ के जिलाध्यक्ष राजेश रावत, अध्यापक कांग्रेस के जिलाध्यक्ष अमरदीप श्रीवास्तव, आजाद अध्यापक संघ के अविनीश मिश्रा, राजेन्द्र धाकड़, ब्रजकिशोर उपाध्याय, लेखराज शर्मा, दीपक पटवारी, दिनेश वर्मा आदि शामिल हैं।
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

-----------

analytics