Ad Code

चार्ली ने KP Singh में 3 गोलियां मारीं, मौत l Pichhore, Shivpuri News

शिवपुरी| खबर पिछोर अनुविभाग के भौती थाना क्षेत्र से आ रही है कि थाना क्षेत्र के एक गांव में पुरानी रजिंश के चलते एक उचित मूल्य की दुकान के सैल्समैन ने पूर्व सरपंच को गोली मार दी। बताया जा रहा है कि गोली लगने से गंभीर रूप से घायल पूर्व सरपंच ईलाज के लिए झांसी ले गए जहां उसने रस्ते में दम तोड दिया। झांसी के डॉक्टरो ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना कल शाम 4 बजे की बताई जा रही हैं। 

पिछोर विधानसभा क्षेत्र में खडेला गांव के पास उचित दुकान के सेल्समैन का पुरानी रंजिश के चलते पूर्व सरपंच से झगड़ा हो गया। झगड़े के बाद सेल्समैन चार्ली राजा ने 32 बोर पिस्टल से गोलियां चला दीं। सिर, छाती व बायीं ओर गोली लगने से पूर्व सरपंच कृष्णपाल सिंह की मौत हो गई। परिजन इलाज के लिए झांसी ले गए, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। 


जानकारी के मुताबिक कृष्णपाल सिंह (38) पुत्र भगवत सिंह चौहान निवासी बिरौली साथियों के साथ जा रहा था। इसी दौरान खडेला गांव के पास रास्ते में चार्ली राजा चौहान निवासी बिरौली मजरा से आमाना—सामना हो गया। आमना-सामना हाेने के बाद दोनों ओर से जमकर लाठियां चलीं। इसी दौरान चार्ली राजा ने 32 बोर पिस्टल निकालकर फायर झोंक दिए। एक गोली कृष्णपाल के सिर, दूसरी छाती के ऊपर और तीसरी शरीर के बांय तरफ लगी। गाेली मारकर चार्ली राजा मौके से भाग निकला। 

इसके साथ दोनों गाड़ियों से कृष्णपाल को मौजूद साथी सीधे झांसी लेकर रवाना हो गए। लेकिन झांसी पहुंचने पर डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। वहीं घटना की सूचना पर खोड चौकी व भौंती थाना पुलिस वारदात स्थल पर पहुंची। हत्या कर फरार चार्ली राजा की तलाश में जुट गई है। मृतक कृष्णपाल पारेश्वर ग्राम पंचायत का सरपंच भी रह चुका है। वर्तमान में उनकी चाची बरौली गांव की सरपंच हैं। 

जबकि गाेली मारकर भागा चार्ली राजा उचित मूल्य दुकान का सेल्समैन है। सूत्रों की मानें तो बंद पड़ी खडेला पत्थर खदान को लेकर दोनों पक्ष आमने - सामने आ गए। खदान की सफाई को लेकर विवाद होना बताया जा रहा है। जबकि कुछ लोग बोरवेल खनन का विवाद बता रहे हैं। 

मृतक और हत्यारोपी दोनों पर पहले से कई केस दर्ज 
मृतक कृष्णपाल सिंह के खिलाफ 15 से ज्यादा मुकदमा दर्ज हैं। जिसमें साल 2011 में हत्या का मुकदमा शामिल है। मामले में कृष्णपाल सिंह फरार है। इसी तरह डकैती, मारपीट के केस में भी फरार है। साल 2005 के एक मामले में सजा भी हो चुकी है। ऐसे ही मारपीट व लूटपाट के अन्य मुकदमे दर्ज हैं। वहीं गोली चलाकर भागे सेल्समैन भी 4-5 आपराधिक प्रकरण पंजीबद्ध हैं।