बडी खबर: सिंधिया ने लिया यू टर्न कहा वह CM की रेस से बाहर

भोपाल। गुना-शिवपुरी ओर पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अभी शहडोल में एक ऐसा बयान दिया है जिनसे उनके समर्थको की दिल की धडकने तेज हो गई है। सांसद सिंधिया के बयान से राजनीतिक पंडित भी आश्चर्यचकित हो गए है और इस बयान के मायने खोजे जाने लगे है। मध्यप्रदेश में चुनाव से पहले सीएम कैंडिडेट का ऐलान करने की खुली मांग और खुद को सीएम कैंडिडेट का दावेदार बताने वाले सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आज अपने दावे से यूटर्न ले लिया। उन्होंने शहडोल में खुद को सीएम पद की रेस से बाहर बताया है। हालांकि उन्होंने कमलनाथ को आगे भी नहीं बढ़ाया परंतु फि लहाल यह सवाल गूंज उठा है कि सिंधिया ने ऐसा क्योंं किया।  

शहडोल संभाग चुनाव प्रचार समिति की बैठक में शामिल होने आए सिंधिया ने समिति की बैठक ली। इस दौरान सिंधिया ने प्रदेश में कांग्रेस के सीएम चेहरे को लेकर कहा कि मप्र चुनाव में मुख्यमंत्री की दौ? में नहीं हूं। उनकी इस एक लाइन ने शहडोल से लेकर भोपाल तक सनाका खींच दिया। अब तक माना जा रहा था कि ज्योतिरादित्य सिंधिया सीएम सीट के प्रमुख दावेदार हैं और चुनाव के बाद यदि कांग्रेस सत्ता में आती है तो वो राहुल गांधी की पहली पसंद होंगे। 

बता दें कि ज्योतिरादित्य सिंधिया कई बार खुलकर अपनी दावेदारी जता चुके हैं। राहुल गांधी भी उनके नाम का ऐलान करने को तैयार हो गए थे परंतु ऐन वक्त पर सबकुछ पलट गया। माना जा रहा था कि ज्योतिरादित्य सिंधिया अपनी कोशिशों को विराम नहीं देंगे। वो जबर्दस्त चुनाव प्रचार करेंगे और यदि कांग्रेस सत्ता में आती है तो अपनी दावेदारी भी प्रस्तुत करेंगे। सिंधिया के इस बयान के बाद अब रेस में केवल कमलनाथ शेष रह गए हैं। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

1 comments:

Yuvraj Gupta said...

congress ka MP me come back karne ka sirf ek hi mantra he . or bo he jan jan ke lokpriya neta hamare scindia ji . kyonki scindia ji jesa petriotic, intelligent ,hardworking ,loyal, royal or generous personality MP kya india me shayad hi or koi ho . CM to chota sa pad he boh to PM banne layak he . agar congress unko apna agla PM ghoshit karde to pure India me fir congress ajaigi

Loading...
-----------

analytics