चलित थाना: मेरा भाई मेरी जान का दुश्मन बना हुआ है, एसपी ने तत्काल रामीजामा करा दिया

शिवपुरी। पुलिस अधीक्षक शिवपुरी राजेश हिंगणकर द्वारा चलाये जा रहे चलित थाने की श्रृंखला में पुलिस थाना कोलारस के ग्राम पंचायत पड़ोरा में चलित थाने का आयोजन किया गया जिसमें ग्राम पंचायत पड़ोरा, वेहता ,घुटारी, मड़ीखेड़ा, रामनगर, निबोदा, कुलवारा, खोंकर , अमरपुर, सेसई पंचायतों के अनेक ग्राम वासियों द्वारा अपनी-अपनी समस्यायें पुलिस अधीक्षक को बताई गयीं। जिसमे पुलिस अधीक्षक द्वारा ग्राम वासियों की समस्याओं का मौके पर ही निराकरण किया गया। इस चलित थाना शिविर में 254 आवेदकों द्वारा अपनी अलग -अलग समस्याओं को लेकर आवेदन पंजीबद्ध कराये गये जिसमें राजस्व से संबंधित, बिजली विभाग से संबंधित वन विभाग, स्वास्थ्य विभाग से संबंधित शिकायती आवेदन पत्र प्राप्त हुये। 
इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर द्वारा अपने उद्बोधन में चलित थाने की उद्येश्य के बारे में बताया गया कि एक गरीब, पीडि़त व्यक्तिके न्याय दिलना ही हमारा उद्देश्य हे उकी आंखों में देखकर लगता हे कि वह बहुत परेशान है एैसे पीडित एवं व्याक्तियों जिनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है वह आवेदन टाईप का खर्चा अैर पुलिस अधाीक्षक कार्यालय आने का खर्चा आदि नहीं उठा सकते उनके लिए पड़ोरा चलित थानें में अवेदन टाईप कराने की व्यववस्था की गई है जिससे उन पर आर्थिक भार न आये । 

पीडि़त और गरीबों को न्याय दिलाना ही हमारा मुख्य उद्येश्य है हमारा यह लगातार प्रयास रहेगा कि गाँव - गाँव जाकर चलित थाना लगाकर लोगों की समस्याओं का निराकरण मौके पर ही करें, ताकि गरीब जनता को उचित न्याय मिल सके एवं लोगों की शिकायतों का मौके पर ही दोनों पक्षों की काउन्सिलिंग करवाकर उसका निराकरण किया जा सके यदि अपराध पंजीबद्ध करने की आवश्यकता हुई तो मौके पर ही शून्य पर अपराध कायम किया जावेगा। 

साथ ही साथ आमजन को यह संदेश भी दिया कि कभी किसी के झांसे में मत आना कोई भी व्यक्ति हो किसी को अपने बैंक एकाउंट की जानकारी न दें और न हीं ए.टी.एम. संबंधी कोई जानकारी जैेसे पासवर्ड ए.टी.एम. नंबर किसी को बताऐं, स्वथ्य विभाग द्वारा दवा वितरण कने की व्यवस्था की गई है यदि किसी व्यक्ति का स्वास्थ्य खाराब है तो वह यहां उपस्थित स्वास्थ्य विभाग से मुफ्त मेें दवा ले सकता है शिवपुरी में चलित थाना लगातार जारी रहेगा ।

आशाबाई रमेश ओझा निवासी ग्राम कुलवारा द्वारा एक आवेदन दिया गया जिसमें उक द्वारा बताया गया कि मेरे पति की मृत्यु 20 साल पूर्व हो गई है उसके उपरान्त मेरी जमीन पर मिश्रीलाल पिता सरनाम सिंह रावत द्वारा मेरी 05 बीघा व 09 विश्वा जमीन पर पिछले 20 साल से अवैध कब्जा कर खेती कर रहा है जिस पर पुलिस अधीक्षक द्वारा दोंनों पक्षों को गांव से बुलवाकर कउंसलिंग करवाकर राजीनामा करवाया गया व जमीन छोडऩे को तैयार हो गया।

मांगीलाल पिता सालिगराम निवासी सेसई द्वारा बताया गया कि सेसई सडक़ पर फोर लाइन का निर्माण हुआ है जिसमें गायत्री मंदिर के पास पुलिया ऊंची होने के कारण पानी आसपास किसानों की जमीन में चला जाता है जिससे किसानों की फसल नष्ट हो रही है इसमें पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा ठेकेदार को नोटिस देने के लिए कहा गया।

राम सिंह प्रजापति निवासी होकर द्वारा बताया गया कि मेरी जमीन ग्राम खोकर मैं है जिसमें करीब 10 व्यक्ति गांव के द्वारा रास्ता रोककर खेत मैं जाने से अवरुद्ध किया गया है इस मामले को को पुलिस अधीक्षक महोदय ने गंभीरता से लिया तत्काल मौके पर पुलिस विभाग एवं राजस्व विभाग की टीम को भेजकर बंद रास्ते को खुलवाया गया

आवेदक होतम सिंह निवासी खौकर द्वारा बताया गया कि मेरी मोटरसाइकिल हीरो दिनांक 18 जुलाई 2018 को पडोरा चैराहे से चोरी हो गई थी मेरी गाड़ी आज दिनांक तक नहीं मिली है इस मामले को गंभीरता से लेते हुए श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय के आदेश पर शून्य पर अपराध कायम किया गया।

राम सिंह पिता मानसिंह रावत निवासी मड़ीखेड़ा द्वारा बताया गया कि मेरा भाई जहार सिंह घर के बंटवारे के ऊपर मेरे साथ मारपीट करता है वह कट्टा लेकर घूमता है इस मामले की गंभीरता को समझते हुए पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा एक टीम गठित कर ग्राम मणिखेड़ा भेजी गई जिसमें उसके भाई जहार सिंह को लेकर आए तब पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा उनको समझाया गया कि आप दोनों भाई हैं एक ही माता-पिता के बेटे हैं साथ मिलकर रहें लड़ाई झगड़े से परिवार बिखरता है एक साथ मिल जुल कर रहो समझाइश देने के उपरांत दोनों पक्षों ने राजीनामा प्रस्तुत किया।

ग्राम रामनगर के ग्रामीणों द्वारा बताया गया कि कि गांव में विधायक निधि से पीएचई विभाग द्वारा एक बोर का उत्खनन कराया गया जिसमें आज तक मोटर मोटर नहीं डाली गई जिसमें ग्रामवासी पानी के लिए काफी परेशान हो रहे हैं मौके पर पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा पीएचई विभाग के चीफ इंजीनियर श्री बाथम से मोबाइल पर चर्चा चर्चा की गई उन्होंने आश्वासन दिया कि चार दिवस में मोटर डाल दी जाएगी जिससे ग्रामवासियों की परेशानी का समाधान हो जावेगा।

ग्राम नगर के ग्रामीणों द्वारा बताया गया कि कि गांव में विधायक निधि से पीएचई विभाग द्वारा एक बोर का उत्खनन कराया गया जिसमें आज दिनांक तक मोटर मोटर नहीं डाली गई ग्रामवासी कई बार पीएचई विभाग में आवेदन दिए गए परंतु कोई कार्यवाही नहीं की गई जिसमें ग्रामवासी पानी के लिए काफी परेशान हो रहे हैं जिस पर तत्काल पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा पीएचई विभाग के चीफ इंजीनियर श्री बाथम से मोबाइल पर चर्चा की गई उन्होंने आश्वासन दिया कि चार दिवस में मोटर डाल दी जाएगी जिससे ग्रामवासियों की परेशानी का समाधान हो जावेगा।

इस अवसर पर अति. पुलिस अधीक्षक श्री कमल मौर्य, एस.डी.ओ पी. कोलारस श्री सुजीत सिंह भदौरिया,थाना प्रभारी श्री सतीश चैहान, वन विभाग के डिप्टी रेंजर विजली विभाग के ए.ई., नायब तहसीलदार कोलारस पूजा यादव एवं अनुविभाग के समस्त थाना प्रभारी मय बल के एवं स्वास्थ्य विभाग से डॉ. विवेक शर्मा एवं ग्राम पंचायतों से आये हुये सैकड़ों आवेदक उपस्थित रहे। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics