जल क्रांति: प्रशासन ने दी जल क्रांति को रैली निकालने की अनुमति

शिवपुरी। 15 दिन से माधव चौक पर सिंध जलावर्धन योजना के लिए धरना दे रहे पब्लिक पार्लियामेंट को प्रशासन ने रैली निकालने की अनुमति दे दी है। पब्लिक पार्लियामेंट घर-घर तक सिंध का पानी पहुंचे और योजना में गड़बड़ी के दोषियों  को सजा दिलाने के लिए आंदोलनरत है। अभी तक प्रशासन ने धारा 144 का हवाला देते हुए रैली निकालने की अनुमति नहीं दी थी और धरना स्थल पर माइक का इस्तेमाल करने की अनुमति नहीं दी थी। पब्लिक पार्लियामेंट 7 मई को नगर के विभिन्न मार्गों से एक रैली निकालकर प्रशासन को ज्ञापन सौंपेगी। पब्लिक पार्लियामेंट के प्रवक्ता सौमित्र तिवारी ने बताया कि प्रशासन की तंद्रा को तोडऩे के लिए यह रैली निकाली जा रही है। आज जो लोग धरने पर बैठे हुए हैं उनमें वैभव कबीर (कुक्कू), सौरभ झा (अज्जू) और गगन झा शामिल हैं। इससे पूर्व अभी तक आधा सैंकड़ा लोग क्रमिक भूख हड़ताल कर चुके हैं। 

विदित हो कि शिवपुरी में जल संकट इन दिनों काफी गहरा गया है। जिससे निबटने के लिए नगरपालिका ने कोई भी योजना तैयार नहीं की है यहां तक कि सिंध जलावर्धन योजना में भी जमकर भ्रष्टाचार हुआ है जिस कारण यह योजना अधर में लटक गई है। कल सिंध जलावर्धन योजना का काम देख रही दोशियान कंपनी के अधिकारियों पर ख्ेालमंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने अपनी भड़ास निकाली थी और दोशियान द्वारा किए जा रहे झूठे वादों से त्रस्त होकर उन्होंने स्वयं धरने पर बैठने की बात कही। 

वहीं दूसरी ओर पिछले 15 दिनों से जल क्रांति सत्याग्रह माधव चौक चौराहे पर जारी है, लेकिन अभी तक प्रशासन ने आंदोलनकारियों की सुध नहीं ली है। यहां तक कि सत्याग्रहियों को रैली निकालने तक की परमिशन नहीं दी जा रही थी। रैली निकालने की अनुमति मिलने के बाद पब्लिक पार्लियामेंट 7 मई सोमवार को सुबह 10:30 बजे पुराना बस स्टैण्ड से रैली निकालेगी जो  शहर के प्रमुख मार्गों से होती कलेक्ट्रेट पहुंचेगी। जहां कलेक्टर को मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन सौंपा जाएगा। जल क्रांति के सदस्यों ने कल आयोजित रैली में अधिक से अधिक संख्या में शहरवासियों से उपस्थित होकर अपनी भूमिका निभाने की अपील की है। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics