Ad Code

चोरी की बिजली से चल रहा था एयर कंडीसनर, एसी सहित आधा सैंकडा हीटर जप्त | SHIVPURI NEWS

शिवपुरी। शहर में लोग एयरकंडीसनर (एसी) का शौक तो फरमा रहे है, लेकिन वो बिजली विभाग को चूना लगा रहे हैं। शहर के कई इलाकों में चोरी की बिजली से न केवल हीटर  बल्कि एसी भी चल रहे हैं। इस बात की जानकारी लगने पर आज मप्र विद्युत वितरण कंपनी ने शहर के पिछड़े माने जाने वाले इलाके संजय कालोनी में बिजली चोरी करने वालों के खिलाफ बडें स्तर पर अभियान चलाया।

इस अभियान के दौरान एमपीईवी की टीम ने संजय कॉलोनी में चोरी की बिजली से चल रहे एक एसी सहित आधा सैंकड़ा से अधिक बिजली के हीटर और बड़ी मात्रा में अवैध कनेक्शन वाले तारों को बरामद किया। बिजली चोरों के खिलाफ छेड़े गए इस अभियान से क्षेत्र में भगदड़ जैसी स्थिति निर्मित हो गई। इधर एमपीईवी के अधिकारियों का कहना है कि बिजली चोरों के खिलाफ उनकी यह कार्रवाई आगे भी जारी रहेगी और जहां-जहां लोग बिना विद्युत कनेक्शन के डारेक्ट तार डाल कर बिजली की चोरी कर रहे हैं उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

गौरतलब है कि शहर में काफी समय से चोरी की बिजली जलाए जाने की शिकायतें मिल रही थी। खासकर पिछड़े इलाकों में ज्यादा बिजली चोरी की शिकायतें सामने आ रही थी।  इन शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए अवैध कनेक्शन के जरिए बिजली चोरों के खिलाफ कार्रवाई करने आज एमपीईवी ने सघन सर्चिंग अभियान छेड़ा। एमपीईवी के प्रबंधक जी एम श्रीवास्तव, सहायक प्रबंधक योगेश मेहरा, विजय सोनी, लाइनमेन भगवानलाल, कैलाश पांडे, रामकुमार, रवि कुशवाह और सिद्धकी आदि विद्युतकर्मियों की टीम ने आज गुरुवार को  पुलिस बल को साथ लेकर संजय कॉलोनी में दबिश दी तो मामला काफी चौकाने वाला था। 

पुलिस बल के साथ MPEV की टीम को देखकर अवैध कनेक्शनधारियों में खलबली सी मच गई। कई लोग तो अपने हाथों से अवैध कनेक्शन के तार खींचने में जुट गए। इधर एमपीईवी की टीम ने जब डोर टू डोर निरीक्षण किया तो अधिकांश घरों में अवैध विद्युत कनेक्शन पाए गए। चोरी की इस बिजली से न केवल घर रोशन हो रहे थे बल्कि घर-घर में बिजली के हीटर भी चल रहे थे। इतना ही नहीं एक घर में तो एसी भी चोरी की बिजली से चलता हुआ पाया गया, जिसे देखकर टीम भी हैरान रह गई।

टीम ने एक-एक कर घरों की तलाशी ली और चोरी से चलते पाए गए विद्युत उपकरणों को जब्त किया गया। इस अभियान के दौरान एक एसी सहित आधा सैंकड़ा से अधिक बिजली के हीटर और अन्य विद्युत उपकरण जब्त किए गए। विभाग की इस कार्रवाई से पूरे दिन क्षेत्र में अफरा-तफरी का आलम रहा और बिजली चोरों में भय देखा गया। इधर एमपीईवी के प्रबंधक जी एम श्रीवास्तव का कहना है कि बिजली चोरों के खिलाफ उनका यह अभियान आगे भी जारी रहेगा और जिन-जिन क्षेत्रों से बिजली चोरी की शिकायतें सामने आ रही है वहां पर टीम भेज कर इसी तरह की कार्रवाई की जाती रहेगी।

मुख्य लाइन तक फाल्ट कर देते हैं बिजली हीटर

घरेलू विद्युत उपकरणों में ये बिजली के हीटर ही हैं जो सबसे ज्यादा वोल्टेज खींजते हैं। इन हीटरों के वोल्टज खींचने की क्षमता इतनी अधिक होती है कि एक तरफ घर के सारे  विद्युत उपकरण और दूसरी तरफ अकेला हीटर। सर्दी के दिनों में इन बिजली के हीटरों का उपयोग कुछ ज्यादा ही देखने को मिलता है। लोग इन हीटरों पर नहाने के लिए गरम पानी से लेकर चाय, सब्जी और अन्य खान-पान की सामग्री पकाते हैं। 

घरों में सिर्फ रोटियां सेकने के लिए ही लोग गैस सिलेण्डर और आग का चूल्हे का उपयोग करते हैं, बाकी के सारे काम उनके हीटर्स पर ही हो रहे हैं। सर्दी के दिनों में अंधाधुंध तरीके से हीटर्स चलने से न केवल कम वोल्टेज की समस्या बढ़ जाती हैं, बल्कि इन हीटर्स की बिजली की कैचिंग पावर इतनी जबर्दस्त होती है कि वो मुख्य लाइन तक में फाल्ट कर देते हैं। सर्दी के दिनों में बिजली के यही हीटर्स बिजली विभाग के लिए काफी सिरदर्द साबित होते हैं।

जान का भी कम नहीं होता जोखिम

सर्दी के दिनों में आम घरों में बहुतायात में प्रचलन में आने वाले बिजली हीटर्स से जान का जोखिम भी कम नहीं रहता है। इसकी वजह यह है कि अन्य विद्युत उपकरणों की तुलना में इन हीटर्स में अत्यधिक मात्रा में करंट प्रवाहित होता है। बल्व, एलईडी, टीवी, कूलर और वाशिंग मशीन जैसे अन्य उपकरणों में यदि करंट आता है तो झटका दे जाता है, लेकिन जानकार बताते हैं कि हीटर्स में आने वाला करंट झटका नहीं देता है, बल्कि उपयोग करने वाले को चिपका लेता है और इन स्थितियों में कभी-कभी मौत भी जाती है। बावजूद इसके गैस सिलेण्डर की बचत करने के लिए लोग जान का खतरा भी मोल ले रहे हैं। जिले में पूर्व में बिजली के हीटर्स से जानलेवा घटनाएं हो चुकी है, लेकिन इसके बाद भी लोग इन घटनाओं से सबक लेने की बजाय धड़ल्ले से बिजली के हीटर्स का उपयोग कर रहे हैं।