Ad Code

खबर का असर: खुला कोर्ट रोड़ का रास्ता, दीवाली से पहले रौनक होगा मुख्य बाजार | Shivpuri News

शिवपुरी। खबर शहर के व्यापारीयों के लिए राहत भरी है। बीते कुछ दिनों से दिवाली पर सूने पडे शिवपुरी की बाजार के दीवाली से पहले व्यापारीयों का दिवाला निकलने की स्थिति निर्मित हो गई थी। सीवर लाइन खुदाई के बाद बंद पड़ा कोर्ट रोड का रास्ता बीती शाम सीवर लाइन का काम पूर्ण होने के बाद आम नागरिकों के लिए खोल दिया गया है। रास्ता बंद होने से व्यापारियों को काफी नुकसान उठाना पड़ा था। इस मामले को लेकर शिवपुरी समाचार डॉट कॉम ने इस पूरे मुद्दे को पुन: सीवर खुदाई ने दिवाली से पहले निकाला व्यापारीयों का दिवाला नामक शीर्षक से प्रमुखता से प्रकाशित किया था। 

इस खबर के प्रकाशन के बाद पीएचई विभाग ने संबंधित ठेकेदार को काम पूर्ण करने का निर्देश देकर आवागमन सुलभ करने के लिए कहा था और शाम को ठेकेदार द्वारा सीवर लाइन के आठ पाइपों को जोड़कर खोदे गए गड्ढे को बंद करने का कार्य किया गया। इसके बाद वह रास्ता खुल सका जिससे वहां के दुकानदारों ने राहत की सांस ली है। सीवर का काम बंद होने के साथ ही सड़क निर्माण में आ रही अड़चने भी दूर हो गईं हैं और सड़क निर्माण ठेकेदार जल्द से जल्द कोर्ट रोड सड़क का कार्य को पूर्ण करने का दावा कर रहा है।

विदित हो कि अस्पताल चौराहे से लेकर माधवचौक तक आचार संहिता से पूर्व नगर पालिका ने सड़क निर्माण कार्य शुरू कर दिया था और पूरे रास्ते पर खुदाई कर दी थी। उस समय ठेकेदार ने दावा किया था कि दीपावली से पूर्व सड़क का निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया जाएगा, लेकिन पिछले दस दिनों से हनुमान मंदिर के बाद सीवर लाइन के लिए खोदे गए गड्ढे और चेम्बरों का दुरूस्तीकरण ठेकेदार द्वारा शुरू कर दिया गया था जिस पर सड़क निर्माण कंपनी ने कार्य धीमी गति से करना शुरू किया। 

ऐसी स्थिति में वहां के दुकानदारों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। पिछले कई दिनों से हनुमान मंदिर के आसपास की दुकानों के सामने मिट्टी का ढेर लगने से दुकानदारों का दुकान का खोलना मुश्किल हो गया था जिससे वह काफी परेशान थे। यहां तक कि अस्पताल चौराहे से माधवचौक तक के रास्ते को सड़क निर्माण कंपनी द्वारा खोदकर डाल दिया था। 

जिससे दिनभर धूल उड़ रही थी और बीते दिनों सड़क निर्माण कंपनी ने सड़क का निर्माण कार्य भी रोक दिया जिस पर ठेकेदार ने तर्क दिया था कि गिट्टी बिछाने वाला कर्मचारी अस्वस्थ्य है जिस कारण कार्य बंद कर दिया गया है। ऐसी स्थिति में नवरात्रि में चलने वाला बाजार ठप्प पड़ गया था और दुकानदारों में काफी आक्रोश बना हुआ था।