Ad Code

Responsive Advertisement

बाल आयोग अध्यक्ष ने अस्पातल पहुंच कर जाना रेलवे स्टेशन पर मिले शिशु का हाल | Shivpuri News

शिवपुरी। मप्र बाल सरंक्षण आयोग के अध्यक्ष डॉ राघवेंद्र शर्मा ने जिला चिकित्सालय जाकर 15 दिन के लावारिस मिले नवजात के स्वास्थ्य की जानकारी ली। इस अवसर पर बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष डॉ अजय खेमरिया, सदस्य ,अनुज दुबे, रंजीत गुप्ता, भी मौजूद रहे। उल्लेखनीय है कि बीते रविवार को शिवपुरी रेलवे स्टेशन पर अमृतसर- इंदौर ट्रेन में की महिला बोगी में एक 15 दिन का नवजात शिशु पुलिस को मिला था। 
जिसे बाल कल्याण समिति के माध्यम से जिला चिकित्सालय के एसएनसीयू वार्ड में रखा गया है। बाल आयोग के अध्यक्ष श्री शर्मा ने इस शिशु के स्वास्थ्य के संबन्ध में खुद आकर जानकारी ली। चिकित्सक डॉ बृजेश मंगल ने उन्हें बताया कि इस समय ये शिशु पूर्ण रूप से स्वस्थ्य है और इसे आहार के रूप में पोषक तत्व दिए जा रहे है।

आयोग अध्यक्ष ने बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष को निर्देश दिये की अस्पताल से डिसचार्ज होते ही इस शिशु को बेहतर शिशु गृह में भेजने की व्यवस्था करें, साथ उन्होंने लीगल फ्री की प्रक्रिया में प्रकाशित होने वाले अखबारी  इश्तहार में नवजात या बालक का फोटो रंगीन छापा जाए।

परिजनों का पता लगाने के प्रयास जारी 
अमृतसर इंदौर ट्रेन की महिला बोगी में मिले इस 15 दिन के बालक के परिजनों का पता लगाने के लिए बाल कल्याण समिति द्वारा चाइल्डलाइन को निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा रेलवे पुलिस से भी ग्वालियर और अन्य जगहों के सीसीटीवी फुटेज देखकर बच्चे के परिजनों का पता लगाने के प्रयास जारी हैं।

एक माह में मिले दो नवजात बच्चे
शिवपुरी जिले में पिछले एक माह में दो बालक लावारिस हाल में मिल चुके हैं। इनमें पहला आठ माह का बच्चा पतारा के पास में झाड़ियों में पड़ा मिला था। इस बालक को ग्वालियर शिशु गृह में भर्ती कराया गया है। वहीं दूसरा नवजात बच्चा अमृतसर इंदौर ट्रेन में लावारिस हाल में मिला। 

दोनों ही बच्चों के परिजनों का अभी तक कोई पता नहीं लग सका है। पतारा में मिली बच्ची को लेकर को लेकर बाल कल्याण समिति ने समाचार पत्रों में सूचना भी प्रकाशित करवाई है। बाल कल्याण समिति सदस्य श्रीमती सरला वर्मा ने बताया कि इसके बाद भी अभी तक परिजनों का कोई पता नहीं लगा है।