Ad Code

शिक्षा विभाग: कलेक्टर भी नहीं दिलवा पाई कर्मचारियों का एरियर | Shivpuri News

शिवपुरी। शिवपुरी जिले में शिक्षा विभाग में संकुल प्राचार्य एवं ब्लॉक शिक्षा अधिकारियों की मनमानी के कारण शिक्षकों एवं अध्यापकों तथा स्वास्थ्य विभाग में भी छठवें एवं सातवे वेतनमान का ऐरियर का भुगतान अभी तक नहीं मिला है। 

डिप्टी कलेक्टर को दिए गए ज्ञापन में बतायाकि कर्मचारी कांग्रेस के जिलाध्यक्ष राजेन्द्र पिपलौदा एवं कार्यकारी जिलाध्यक्ष संतोष रजक ने बताया कि शिवपुरी जिले में शिक्षा विभाग भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया हैं। जिलाधीश शिल्पा गुप्ता ने संबंधित अधिकारियों को समय पर शिक्षकों एवं अध्यापकों  ऐरियर का भुगतान करने  निर्देशि दिए गए थे परन्तु शिक्षा विभाग में कलेक्टर के आदेश का पालन नहीं किया जा रहा है। जिसके तहत शिक्षकों में आक्रोश व्याप्त है। 

कर्मचारी कांग्रेस के पदाधिकारियों कहा कि यदि हमारे कार्यो निराकरण नहीं किया गया तो हमें उग्र आंदोलन के लिए बाध्य होना पड़ेगा। शासन की मंशानुसार शिक्षकों एवं अध्यापकों को ऐरियर का भुगतान माह मई 2018 में किया जाना था, लेकिन प्राचार्यों एवं कर्मचारियों के लापरवाही पूर्ण रवैये के कारण उन्हें आज तक ऐरियर का भुगतान नहीं मिल पाया है। 

शिक्षा पदस्थ भृत्यों को आठ-आठ वर्ष से गर्म एवं ठंडी ड्रेस प्रदाय नहीं की गई है। डाईट शिवपुरी में 4 वर्ष से  भृत्यों को मिलने वाली ड्रेस आज तक नहीं मिली है। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग में द्वितीय क्रमोन्नति नहीं लगाई गई है। क्रमोन्नति लगाने के नाम पर बाबूओं द्वारा सुविधा शुल्क की मांग की जा रही है। वहीं स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत नरेश कुमार स्वीपर को नियमित किए जाने की मांग की है। हरिजन कल्याण विभाग के रसोईयों का तीन माह का वेतन छात्रावास अधीक्षकों द्वारा काट दिया गया है। 

अत: उनका वेतन भुगतान प्रदाय करने की मांग की है। जल संसाधन विभाग में कार्यरत स्थाई कर्मचारियों  को सितम्बर 2016 से स्थाई कर्मचारी नियुक्त कर दिया  लेकिन आजतक उनकी सेवा पुस्तिका नहीं बनाई गई है। वहीं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को आज तक समयमान वेतन मान का ऐरिय आज तक नहीं मिला है। 

इन सभी समस्याओं को लेकर आज कर्मचारी कांग्रेस ने जिलाधरीश के नाम डिप्टी कलेक्टर मकसूद अहमद खांन को ज्ञापन सौंपा और कार्यवाही की मांग की हैं। ज्ञापन देने वालों में कर्मचारी कांग्रेस कर्मचारी कांग्रेस के संभागीय अध्यक्ष रामकिशोर सिंह भदौरिया, अतर सिंह धानुक प्रांतीय सचिव, स्वास्थ्य प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष डॉ. हरिशचन्द्र शाक्य, केदारी लाल नामदेव, प्रहलाद जाटव आदि शामिल थे।