Ad Code

5 दिन में दूसरी घटना: मुर्दें को आग के लिए करना पड़ा पांच घण्टे इंतजार

अभिषेक शर्मा/पोहरी। शिवपुरी जिले की पोहरी तहसील पिछड़ी तहसील के रूप में जानी जाती है। जहां विकास कार्य सिर्फ कागजो में ही नजर आता है धरातल पर शून्य है। ग्राम भटनाबर में बिगत रात्रि बाबू रजक उम्र 65 वर्ष का देहांत हो गया जिसका अंतिम संस्कार सुबह किया जाना था लेकिन रात भर से बारिश सुबह तक नही थमी। जिस कारण लोग सुबह से बारिश बन्द होने का इंतज़ार करने लगे लेकिन फिर भी सुबह हल्की बारिश में परिजन शमसान घाट पहुचे। 

लेकिन वहां टीन शेड न होने के कारण लकडिय़ा ब कंडे भीग गए और बमुश्किल टायर व केरोसिन डाल-डाल कर चिता जलाई। बारिश के मौसम में ग्रामीणों को अंतिम संस्कार हेतु काफी परेशानी से गुजरना पड़ रहा है जिसकी सुनवाई न तो स्थानीय जनप्रतिनिधि करते और न ही प्रसाशन।

पूर्व में भी हो चुकी ऐसी घटना
पोहरी तहसील में यह पहला मामला नही है ऐसे कई गाव है जहां टीनशेड के लिये लोगो को घंटो इन्तज़ार करना पड़ता है। ऐसे में अभी हाल ही में ग्राम खोड में भी एक मामला सामने आया जहा बारिश के चलते लोगो को 4 घंटे इन्तज़ार करना पड़ा जिसके बाद बमुश्किल लोगो ने अंतिम संस्कार किया। बही प्रसाशन को भी ऐसी घटनाओं के बारे में जानकारी होने के बाबजूद भी उनका समाधान कराने में असमर्थ  नजर आ रहे है।

दर्जनों गाँव मे टीनशेड बिहीन मुक्तिधाम
पोहरी तहसील अंतर्गत करीब 86   ग्राम पंचायत है जिनमे सेकड़ो गाव है। लगभग हर गाव में मुक्तिधाम है लेकिन पूर्ब में जो मुक्तिधाम का निर्माण कार्य हुआ जिसमे बॉउंड्री सहित चबूतरे का निर्माण हुआ करता था बही टीनशेड का प्रबंध नही होता था जिसके कारण कई गाव में ऐसे कई मुक्तिधाम है जहाँ टीनशेड नही है जहां बारिश के समय अंतिम संस्कार करने में लोगो को काफी परेशानी उठानी पड़ती है। 

आखिर कैसे होगा टीनशेड का प्रबंध 
मुक्तिधाम में टीनशेड का प्रबंध न होने को लेकर कई गाव के लोगो को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में सवाल यह हैं कि आखिर जिन मुक्तिधाम में टीनशेड का प्रबंध नही आखिर उन मुक्तिधाम में टीनशेड का प्रबंध कैसे होगा बही इस मामले पर पोहरी जनपद सीईओ ने स्पष्ठ बोल दिया कि यह कार्य मनरेगा के तहत पूर्ब में हुआ है जिसमे आगे कोई बजट नही है। अब केवल जनभागीदारी से ही इन समस्याओं को हल किया जा सकता है।

इनका कहना है
रात्रि से बारिश नही थमी और सुबह से भी हल्की वारिश हो रही है ऐसे मैं टीन शेड ना होने के कारण लकड़ी कंडे सब गीले हो गए बमुश्किल टायर और मिट्टी के तेल से चिता जलाई ।
लाला रजक, ग्रामीण

ये मुक्तिधाम पुराना बना हुआ है उस समय टीन शेड नही आती थी,लेकिन मैं कोशिश कर रहा हूँ कि जनभागीदारी से टीनशेड़ हो जाये।
अरुण शर्मा, सरपंच भटनाबर