ऑफिस में बाबू के साथ मारपीट काण्ड: डीपीसी के खिलाफ एकजुट हुए बाबू,घेरी कोतवाली,मामला दर्ज कराने की मांग

शिवपुरी। जिले में चल रही बाबूओं की हड़ताल में कल बाबू आक्रोशित हो गए। बाबूओं ने एकजुट होकर कार्यालयों में काम कर रहे बाबूओं को हड़ताल में शामिल नहीं होने पर मारपीट कर दी। इस मामले में वीडिय़ो वायरल होने के बाद डीपीसी शिरोमणि दुबे ने कोतवाली पहुंचकर आरोपीयों पर अपराधिक प्रकरण भी दर्ज करा दिया। इस मामले के दर्ज होते ही कलेक्टर शिल्पा गुप्ता ने तीन बाबूओं को तत्काल प्रभाव से निलंबिंत कर दिया। 

जैसे ही कलेक्टर शिल्पा गुप्ता ने मामले में बाबूओं पर कार्यवाही की। सभी बाबू एकजुट होकर कोतवाली जा पहुंचे और डीपीसी शिरोमणि दुबे पर अभद्रता के आरोप लगाने लगे। बाबूओं ने कोतवाली में मध्यप्रदेश लिपिक वर्गीय शासकीय कर्मचारी संघ जिला शाखा शिवपुरी के बैनर तले ज्ञापन देते हुए आरोप लगाए है कि उनकी अनिश्चित कालीन हड़ताल चल रही है। 

जिसके चलते लिपिक संघ के अधिकारीयों ने कल सभी कार्यालयों में भ्रमण किया। जिसमें वह प्रौढ़ शिक्षा के कार्यालय में पहुंचे जहां लिपिक रविन्द्र श्रीवास्तव कार्यालय में काम करता हुआ पाया गया। जिस पर उन्हें हड़ताल में शामिल होने की कहा। जिसपर कार्यालय में डीपीसी शिरोमणि दुबे और मोहम्मद आशिफ अफगानी ने लिपिक संघ के पदाधिकारीयों के साथ अभ्रद व्यवहार किया। 

लिपिकों ने बताया है कि एफआईआर में मारपीट की घटना की जो बात कही जा रही है। उसके संबंध में रविन्द्र श्रीवास्तव ने कार्यालय में कोई भी शिकायत नहीं की गई है। और न ही लिपिकों ने डीपीसी दुबे और अफगानी के साथ कोई भी अभ्रद व्यवहार किया गया है। यह मामला डीपीसी दुबे ने द्वेष भावना के चलते किया है। 


साथ ही लिपिकों ने पुलिस को एक और आवेदन दिया है। जिसमें उन्होंने किसी रविन्द्र श्रीवास्तव के द्वारा एक आवेदन सलग्र किया है। जिसमें रविन्द्र श्रीवास्तव कोई भी कार्यवाही करने से इंकार कर रहे है। इसमें पदाधिकारीयों ने डीपीसी के अभ्रद व्यवहार के चलते डीपीसी पर आपराधिक प्रकरण दर्ज कराने की मांग करते हुए कोतवाली का घेराव किया। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

-----------

analytics