कोलारस उपचुनाव: दोनों प्रत्याशियों का कोई ऐजेंडा नहीं, बस सिंधिया का आर्शीवाद है

ललित मुदगल @एक्सरे /शिवुपरी। जिले के कोलारस विधानसभा में उपचुनाव चल रहा है। भाजपा और कांग्रेस ने अपने-अपने प्रत्याशी घोषित कर दिए है। कांग्रेस से स्व: विधायक रामसिंह यादव और भाजपा ने पूर्व विधायक देवेन्द्र जैन को प्रत्याशी बनाया है। कोई भी प्रत्याशी चुनाव में जनता के बीच जाता है जनसंपर्क के दौरान विकास की बात करता है, विकास का प्लान जगजाहिर करता है, लेकिन कोलारस के उपचुनाव में अभी ऐसा कुछ भी देखने और सुनने को नही मिला है। सीधे-सीधे शब्दो में कहे तो भाजपा और कांग्रेस के प्रत्याशी सिंधिया राजघराने के सदस्यों की दम पर ही चुनाव लड़ रहे हैं। उनका अपनी विधानसभा के लिए स्वयं का कोई एक्शन प्लान नही है।

जैसा कि विदित है कि इस विधानसभा के विधायक स्व: रामसिंह यादव के दुखद निधन के बाद उपचुनाव हो रहा है। भाजपा और कांग्रेस ने काफी पहले से ही प्रचार शुरू कर दिया था। प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह ने डेढ माह में आधा दर्जन दौरे किए और मंत्रियो का यहां शिविर लगवा दिया। 

कांग्रेस की ओर से यहां केवल सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ही अकेले मोर्चा संभाले हुए थे, हालाकि कल कांग्रेस प्रत्याशी महेन्द्र सिंह यादव के नामाकंन भरने से पूर्व हुए रोड शो में कांग्रेस के दिग्गज शामिल हुए। इस चुनाव की ओर पूरे प्रदेश की निगाहे हैं। दोनों प्रत्याशियों ने अपना जनसंपर्क शुरू कर दिया है, लेकिन किसी भी प्रत्याशी के पास कोलारस के विकास का एक्शन प्लान नही है। अभी तक किसी भी प्रत्याशी ने अपना विकास ऐजेंडा नही रखा है। 

कांग्रेस की ओर कल सिंधिया ने कहा कि हम भाजपा की दमनकारी नीतियों के खिलाफ चुनाव लड रहे है। महेन्द्र यादव सोशल मीडिया पर एक्टिव हो चुके है पर विकास की बात अभी तक नही हुई है। कुल मिलाकर वह सांसद सिंधिया के दम पर चुनाव लड रहे है। 

तो दूसरी ओर भाजपा के प्रत्याशी 5 फरवरी को अपना नामाकंन भरने जाऐगें। एक निजी चैनल से बातचीत करते अपने टिकिट का श्रेय यशोधरा राजे सिंधिया को दिया। शिवपुरी से प्रकाशित सांध्य दैनिक ने खबर भी प्रकाशित की थी। भाजपा के ओर से टिकिट के दावेदान देवेन्द्र जैन ने यशोधरा राजे से भोपाल में मुलाकात की है और जब तक वे प्रचार की कमान संभालने का भरोसा नही देती तब तक वह पार्टी से टिकिट नही लेगें। 

अगर यह खबर सत्य है तो देवेन्द्र जैन शिवपुरी विधायक और प्रदेश मंत्री की दम पर चुनाव में खडे हुए है। कोलारस चुनाव से अभी तक दूर रही यशोधरा राजे के नाम आने से चुनाव रोचक हो सकता है। भाजपा के प्रत्याशी भी सोशल मिडिया पर एक्टिव हो चुके है, उनकी एफबी पर न्यू फोटो लोड हो चुके है, लेकिन विकास की बात नही हुई है, केवल आभार प्रकट ही किया है। 

कुल मिलाकर 2 लाख 45 हजार के लगभग मतदाता वाली कोलारस विधान सभा के दोनों प्रत्याशी सिंधिया राजघराने के सदस्यों के दम पर ही चुनाव लड रहे है। फर्क अभी जो दिख रहा है कि कांग्रेस सिंधिया पूरी दम-खम से मैदान में आ चुके है, लेकिन यशोधरा राजे की ओर से अभी कोई अधिकृत घोषणा नही हुई है। सिर्फ कयास लगाए जा रहे है। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

-----------

analytics