अब शून्य निवेश पर सुधारा जाएगा शिक्षा का स्तर

शिवपुरी। मप्र शासन के स्कूल शिक्षा विभाग ने औरोबिंदो सोसायटी से अनुबंध किया है। जिसके तहत शिक्षा के क्षेत्र में शून्य निवेश नवाचार की नई पहल की जा रही है। शून्य निवेश में प्रदेश के सारे सरकारी स्कूलों में शिक्षा का स्तर सुधारने का बीड़ा औरोबिंदो सोसायटी ने उठाया है। स्कूलों में कम संसाधनों के बावजूद बच्चों को बेहतर शिक्षा के तौर तरीके बताए जाएंगे। सोसायटी की मंशा के अनुरूप शिक्षा का स्तर सुधारने के लिए राज्य शिक्षा केंद्र ने सभी जिलों के साथ जिला शिक्षा केन्द्र शिवपुरी के जिला परियोजना समन्वयक को भी आदेश जारी किया है। 

हर स्कूल से एक शिक्षक को एक दिवसीय प्रशिक्षण शून्य निवेश नवाचार (जीरो इनवेस्टमेंट इनोवेशन फोर एजुकेशन इनिटीटिव्स) दिया जाना है। प्रदेश स्तर से सभी जिलों के सरकारी प्राइमरी और मिडिल स्कूलों के शिक्षक प्रशिक्षण के साथ इसकी कवायद 10 जनवरी से शुरू हो रही है। 

शिक्षकों को प्रशिक्षण में नवाचार की किताब 
शून्य निवेश नवाचार से संबंधित प्रशिक्षण के दौरान शिक्षकों को पूरी रूपरेखा समझाई जाएगी। सोसायटी से हर जिले के लिए एक स्त्रोत व्यक्ति उपस्थित रहकर प्रशिक्षण देगा। जिले में प्राइमरी और मिडिल स्कूलों से एक शिक्षक को शून्य निवेश नवाचार पुस्तिका भी प्रिंट कर सोसायटी द्वारा दी जाएगी। किताबों के साथ शिक्षकों से भरवाने के लिए कुछ फॉर्मेट भी रहेंगे जिन्हें शिक्षकों से प्रशिक्षण के दौरान भरवाया जाएगा। 

औरोबिंदो सोसायटी के मप्र में स्टेट का-ऑर्डिनेटर चेतन पंढारकर ने बताया कि हर स्कूल से एक शिक्षक को नवाचार की पुस्तिका दी जाएगी। जिसमें 11 केस स्टडीज दी हैं और कुल 30 नवाचार हैं। ये प्रतियां संबंधित संस्था के प्रशिक्षक द्वारा उपलब्ध कराई जाएंगी। यदि किसी स्कूल में कोई नवाचार है तो शिक्षक भी अपने स्कूलों का नवाचार लेकर आ सकते हैं। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics