आंतक के मामले में हम सब भारतीय हैं, दुश्मन हमारे सैनिकों पर हमला कर कैसे पा रहे है: सांसद सिंधिया | Shivpuri News

शिवपुरी। आज शिवपुरी में मेडीकल कॉलेज का लोकार्पण करने आए सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आज मीडिया से बात करते हुए कहा कि आंतक के मामले में हम सब एक है। आंतक के मामले में न तो हम कांग्रेसी है और न ही भाजपाई। हम सब भारतीय है और आंतक के मामले में हम सब एक है। इसमें कोई दोहराह नहीं है लेकिन हमारा हक जरूर होता है देश का नागरिक होने के नाते जो बातावरण आज तैनात हुआ है। जहां एक के बाद एक आंतकी हमले हो रहे है और सरकार जो कमीयां पाई गर्ई है। उदाहरण के तौर पर उरी और पठानकोठ के बाद जो फ्लिप कैम्पॉस की रिपोर्ट निकली थी। उस पर आज तक काम नही हुआ है। 


तो दुरस्त हम अपने सिस्टम को क्यों नहीं कर रहे है दुश्मन हमला कर रहा है। उसका मूंह तोड जबाब देना चाहिए और उसके लिए हम सब सरकार के साथ है। पहले हम सब भारतीय है। हमें यह सौचना चाहिए कि बार बार यह आतंकी हमारे देश में हमला कर कैसे पा रहे है। इस बात का मुझे इतना अश्चर्य है कि आंतकी हमले के बाद हमने मुंह तोड जबाब दिया। उसके बाद हमारा एक वायूसेना का पायलेट वीरता का प्रतीक बनकर पाकिस्तानी एफ 16 को मार गिराया। उसके बाद दुश्मन के क्षेत्र में उसका प्लैन डाउन हो गया। उसके बाद उसे छुडाने के बदले प्रधानमंत्री बूथ वर्कस की मीटिंग ले रहे है। यह कहा कि इंसानियत है। यह समझ में नहीं आ रहा है। जब आंतकी हमला होता है,तब जिम कोपरेट में बैठकर डिस्कबरी चैनल की सूटिंग कर रहे है बाइल्ड लाईफ के साथ यह कहा की संबेदन शीलता है। 

इसका उत्तर उनको देना पडेगा। उसके बाद 1 घण्टे बाद उत्तराखण्ड में जाकर राजनैतिक कार्यक्रम करते है। उन शहीदों के लिए दो मिनिट का मौन भी नहीं रखते। आज घटना को 21 दिन बाद भी उन सीआरपीएफ जबानों को भारत सरकार शहीदों का दर्जा नहीं देती। उसका जबाब सरकार दे। शहीद का दर्जा देने में क्या कठिनाई है। जो अपने जीबन का बलिदान देता है देश के लिए उसे शहीद का दर्जा नहीं दिया जाता। क्या कहेंगे मोदी जी। हमारे राहुल गांधी ने कॉग्रेस बक्रिग कमेटी की मीटिंग कैसिंल कर दी। हमने सभी पब्लिक के कार्यक्रम कैसिंल कर दिए और आप पोलिंग बूथ की मीटिंग ले रहे हो सत्ता में बैठकर इसका जबाब देना होगा मोदी जी को। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

-----------

analytics