Ad Code

सांसद सिंधिया ने 6 करोड़ 70 लाख से अधिक की लागत के 86 आंगनवाड़ी केन्द्रों का किया शिलान्यास | Shivpuri News

शिवपुरी। क्षेत्रीय सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के मुख्य आतिथ्य में आज शिवपुरी में 6 करोड़ 70 लाख से अधिक लागत से निर्मित होने वाले 86 आंगनवाड़ी केन्द्र भवनों का शिलान्यास किया गया। मानस भवन शिवपुरी में आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता महिला एवं बाल विकास विभाग मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने की। 

सांसद सिंधिया ने कार्यक्रमों को संबोधित करते हुए कहा कि आंगनवाड़ी कार्यकर्ता शासकीय सेवा नहीं कर रही है बल्कि वह देश का भविष्य बनाने के साथ राष्ट्र के उत्थान एवं कल्याण का कार्य जमीनी स्तर पर कर रही है। उन्होंने कहा कि कुपोषण कोई बीमारी नहीं है। बल्कि यह एक सामाजिक स्थिति है, जिसे देश के मानचित्र से मिटाना होगा। 

इसके लिए आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं एवं सहायिकाओं के माध्यम से महिलाओं को कुपोषण के प्रति सचेत कर जागरूक भी करना होगा। उन्हें अपनी जीवनशैली में बदलाव लाना होगा। उन्हें समझाईस देनी होगी कि वह अपने एवं बच्चों के भोजन में पोष्टिक आहार का समावेश करें बच्चा नहीं बचेगा तो आने वाले समय में देश का भविष्य नहीं बचेगा। इसके लिए बच्चों में कुपोषण न हो इस पर विशेष ध्यान देना होगा। 

उन्होंने कहा कि आंगनवाड़ी केन्द्र कुपोषण दूर करने में अपनी अहम भूमिका का निर्वहन करें। उन्होंने कहा कि देश में 1 लाख बच्चे कुपोषण से प्रभावित होकर अपना 5वां जन्मदिन नहीं देख पाते है। सांसद ने कहा कि आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के मानदेय बढ़ाने के लिए हर संभव प्रयास किए जाएगें।

आंगनवाड़ी केन्द्र प्रतिदिन खुले और बच्चों एवं महिलाओं को बेहतर सेवाए मिलें

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए महिला एवं बाल विकास विभाग मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने कहा कि एक साथ 6 करोड़ 70 लाख की लागत से आंगनवाड़ी केन्द्र भवन निर्मित किए जाएगें, जिसमें शिवपुरी जिले में 56 आंगनवाड़ी केन्द्र भवन, गुना में 28 और अशोकनगर जिले में 2 आंगनवाड़ी केन्द्र भवन शामिल है। 

उन्होंने कहा कि अभी तक आंगनवाड़ी केन्द्र पर 11 पंजी संधारित होती है। लेकिन अब केन्द्र पर 1 पंजी का संधारण किया जाएगा। उन्होंने आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं से कहा कि वह सुनिश्चित करें कि केन्द्र समय पर प्रतिदिन खुले तथा बच्चों एवं महिलाओं को बेहतर सेवाए प्राप्त हों। उन्होंने कहा कि आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका, कर्मचारी ही नहीं बल्कि उनसे मेरा नाता एक विभाग के परिवार के सदस्य के साथ छोटी बहन का भी है। प्रत्येक आंगनवाड़ी केन्द्र भवन की लागत 7 लाख 80 हजार होगी।