Ad Code

3 युद्ध में लोहा लेने वाले आर्मी के रिटायर्ड जाँबाज़ सिपाही रामप्रसाद त्रिपाठी नहीं रहे | Shivpuri News

शिवपुरी। 3 युद्धो में अपने देश की ओर से लडने वाले रिटायर्ड फौजी रामप्रसाद त्रिपाठी नही रहे। बताया जा रहा हैं कि रामप्रसाद त्रिपाठी पिछले 1 वर्ष से कैंसर की बीमारी से लड रहे थे, आज दोपहर को ग्वालियर के कैंसर हॉस्पिटल में उन्होने अंतिम सांस ली। उनकी अंतिम यात्रा कल सुबह 9 बजे उनके निज निवास से मुक्ति धाम की ओर निकलेंगी।  

जानकारी के अनुसार रामप्रसाद त्रिपाठी उम्र 92 वर्ष देश के आजादी की साल सन 47 में इंडियन आर्मी में भर्ती हुए। उन्होने सन 48 के पकिस्तान से होने वाले युद्ध् में अपनी वीरता से दुश्मनो से लोहा लिया। इंडियन आर्मी के जाबांज सिपाही रामप्रसाद शर्मा ने चाईना से भी सन 61 में युद्ध् किया।

सन 65 में होने वाले पकिस्तान से दूसरे युद्ध् में भी रामप्रसाद शर्मा को अपने देश की ओर से ल्रडने का अवसर प्राप्त हुआ। रामप्रसाद शर्मा पिछले वर्ष पूर्व पूर्ण स्वस्थय थे। 1 वर्ष पूर्व उन्है गले का कैंसर हो गया था। 

1 वर्ष से कैंसर से संघर्ष करते हुए आज 3 युद्धो में दुश्मनो से लोहा लेकर वापस आने वाले रामप्रसाद शर्मा कैसंर से नही लड सके। उन्होने आज ग्वालियर के कैंसर हॉस्पिटल मे दोपहर 1 बजकर 55 मिनिट पर अंतिम सांस ली। उनकी अंतिम यात्रा कल सुबह 9 बजे से उनके निज निवास गोविंद नगर हवाई पटटी से मुक्तिधाम को निकलेंगी। 

इंडियन आर्मी के रिटायर्ड जबांज सिपाही रामप्रसाद अपने पीछे 2 पुत्र शिक्षक बलराम त्रिपाठी ओर मनोज त्रिपाठी सहित भरा पूरा परिवार छोड गए है, ऐसे वीर इंडियन आर्मी के जाबांज सिपाही रामप्रसाद शर्मा को शिवपुरी समाचार डॉट कॉम अपने और अपने पाठको की ओर से श्रृंदाजलि अर्पित करता हैं।