Ad Code

2 आवारा सांडो के मलयुद्ध् में बाईक सवार आया चपेट में,गर्दन में घुसा सींग,मौत | Shivpuri News

शिवपुरी। प्रदेश के नाथ कमलनाथ बनने के बाद गौसदन शुरू करने के ओदश हो गए,शिवपुरी में गौसदन चालू कर दिया। गया हैं,लेकिन फिर भी सडको पर सडक पर चलने वाले आम नागरिको की जान का आफत में डालने वाले ये आवारा सांड खुले में घूम रहे है। बीते रोज 2 आवारा सांडो की मलयुद्ध् में एक बाईक सवार की जान चली गई।  

यह था घटना स्थल 
शहर के झांसी रोड पर ईदगाह के सामने दो सांड अचानक लड़ते हुए सड़क पर आ गए। इसी दौरान बाइक सवार युवक मृगेंद्र का निकलना हुआ और दोनों सांडों की लड़ाई की चपेट में आ गया।गर्दन में एक सांड का सींग घुस जाने से युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। इलाज के दौरान जिला अस्पताल में दम तोड़ दिया। 

शहर में घूम रहे आवारा सांडों को लेकर नगर पालिका अभी भी ध्यान नहीं दे रही है। गौ सदन की गोशाला चालू करा देने के बाद भी शहर से सारे सांडों को पकड़ा नहीं जा सका है। इसी वजह से आज सांडों ने एक और जान ले ली। 

घायल को ग्वालियर रैफर,लेकिन परिजन वापस लेकर आए 
मृगेंद्र धाकड़ (33) पुत्र विशंभरदयाल धाकड़ निवासी नगरा थाना पोहरी हाल निवास लुधावली शिवपुरी बुधवार की रात 7.30 बजे बाइक से जा रहा था। ईदगाह शिवपुरी के सामने झांसी रोड पर दो सांड आपस में लड़ रहे थे। सांडों की लड़ाई के दौरान मृगेंद्र बाइक सहित चपेट में आ गया। 

एक सांड का सींग मृगेंद्र की गर्दन में घुस गया। सांडों के हमले में मृगेंद्र बुरी तरह से जख्मी हो गया। आस-पास मौजूद लोग मौके उसे लेकर इलाज के लिए जिला अस्पताल ले गए। यहां इलाज शुरू हुआ, लेकिन घाव गहरा होने की वजह से मृगेंद्र की हालत गंभीर बनी रही इसके चलते उसे ग्वालियर रैफर किया गया, लेकिन रास्ते में हालत अधिक बिगड़ी तो वापस शिवपुरी अस्पताल ले आए। यहां इलाज के दौरान युवक की मौत हो गई। बताया जाता है कि मृतक शिवपुरी में ही एक प्राइवेट फर्म में सुपरवाइजर का काम करता था। 

तीन माह पूर्व ही पत्नी ने बेटे को दिया था जन्म 
छोटे भाई विनोद धाकड़ ने बताया कि मृगेंद्र 8-10 साल से शिवपुरी में रह रहा था और एक प्राइवेट फर्म में काम करता था। लुधावली में किराए के मकान में बीबी-बच्चों के साथ रहता था। पहले से तीन बेटियां और एक बेटा है जिसे आंखों से कम दिखाई देता है। जबकि तीन माह पूर्व ही पत्नी ने एक और बेटे को जन्म दिया है। मृतक पूर्व विधायक प्रहलाद भारती का रिश्तेदार भी बताया जा रहा है। 

आठ माह में सांडों ने दूसरी जान ली 
सांडों के हमले में मृगेंद्र की जान चली गई है। इससे पहले 19 जून 2018 को एक वृद्ध महिला की मौत हो चुकी है। सांड के हमले में यह दूसरी जान जा चुकी है। वृद्धावस्था पेंशन लेने घर से निकली हक्की बाई शाक्य (80) पत्नी स्वर्गीय उदुआराम शाक्य निवासी संजय कॉलोनी शिवपुरी की दो सांडों ने जान ले ली।