Ad Code

Responsive Advertisement

बाल आयोेग के अध्यक्ष ने किया निरीक्षण, बच्चों की शिकायत मैडम डंडे से मारती है, बसें भी मिली खटारा | Shivpuri News

शिवपुरी। मध्य प्रदेश बाल आयोग के अध्यक्ष राघवेंद्र शर्मा और सदस्य बृजेश सिंह चौहान ने मंगलवार को सेंट चार्ल्स स्कूल का निरीक्षण किया। इस दौरान इस विद्यालय में कई खामियां देखने को मिली। बाल आयोग की टीम को स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों ने शिकायत करते हुए बताया कि यहां पर मैडम बहुत मारती हैं और एक दिन तो एक बच्चे को मारते-मारते डंडा तक तोड़ दिया। बाल आयोग की टीम ने जब इस स्कूल बसों का निरीक्षण किया। तो कंडम बस स्कूल परिसर में मिलीं। 

एक ड्राइवर के पास न तो ड्राइविंग लाइसेंस था और न ही अन्य कागज मिले। इन खामियों को बाल आयोग ने गंभीरता से लिया है और कार्रवाई की बात कही। सेंट चार्ल्स स्कूल के निरीक्षण के दौरान बाल आयोग अध्यक्ष राघवेंद्र शर्मा, आयोग सदस्य बृजेश चौहान के साथ बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष डॉ अजय खेमरिया, सदस्य रंजीत गुप्ता, जिला शिक्षा अधिकारी आर बी सिंडोसकर, महिला एवं बाल विकास अधिकारी ओपी पांडे व अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।

पांचवी क्लास में पढ़ने वाली बच्ची का बेग निकला 15 किलो का
बाल आयोग की टीम ने जब सेंट चार्ल्स स्कूल का निरीक्षण किया तो  इस विद्यालय की पांचवी कक्षा में पढ़ने वाली एक छात्रा का का बैग 15 किलो का निकला। छात्रा का बैग देखने के बाद बाल आयोग अध्यक्ष ने स्कूल की प्रिंसिपल को निर्देश दिए कि इतने भारी बैग पर रोक लगाई जाए। आयोग ने बच्चों से क्लास के सिलेबस अनुसार ही किताबें मंगाईं जाए।

राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के चित्र मिले गायब
बाल आयोग की टीम के निरीक्षण के दौरान इस विद्यालय में राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के फ़ोटो नहीं मिले। इस दौरान आयोग की टीम ने इस पर आपत्ति दर्ज कराई है और स्कूल प्राचार्य को निर्देश दिए कि देश के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के चित्र लगाएं।