Ad Code

परिवार से बिछड़ी युवती,तमिल भाषी होने के कारण 72 घंटे बाद पहचान उजागर हुई | Shivpuri News

शिवपुरी। रेलवे स्टेशन पर अपने परिवार से बिछुडी युवती स्टेशन पर गिरकर घायल हो गई थी। युवती की भाषा हिन्दी ने होने के कारण पहचान मुश्किल हो रही थी। अस्पताल में कार्यरत केरल की रहने वाली एक नर्स से उसका संवाद कराया गया जब जाकर उसकी पहचान उजागर हुई,घायल युवती अब प्रसन्न आ रही हैं क्यो कि 3 दिन बाद उसे अपनी भाषा में बात करने वाला मिला है।

जानकारी के अनुसार रेलवे स्टेशन पर एक युवती घायल अवस्था में रोती हुई मिली। घायल होने के कारण उसे जिला चिकित्सायल में भर्ती कराया गया। लेकिन उसकी भाषा किसी की समझ में नही आ रही थी,इस कारण उसकी पहचान उजागर नही हो पा रही थी,इस कारण युवती भी दिन भर रोती रहती थी। 

अस्पताल में कार्यरत केरल मूल की रहने वाली नर्स टीसा से उसकी बातचीत कराई गई तो उसकी पहचान उजागर हुई। बताया गया हे कि वह तमिलनाडू के धर्मपुरम अन्नानगर की रहने वाली है। और उसका नाम बंसती हैं,पति और बच्चे के साथ उत्तर भारत के मंदिर घूमने के लिए आई है। बीती 28 जनवरी की रात जब वह ट्रेन से उतरी तो पति और बच्चों से वह आगे निकल गई और तभी किसी सवारी का झटका लगा और वह गंभीर रुप से घायल हो गई। 

पुलिस उसे वहां से अस्पताल लेकर आई। युवती 29 तारीख तक रोती रही। वह तमिल भाषा में ही बात कर पा रही थी इसलिए काेई कुछ नहीं समझ पाया। आखिर में ट्रामा सेंटर में कार्यरत केरल निवासी नर्स से इस युवती का संवाद हुआ तो उसकी पहचान निकलकर सामने आई। इस पहचान के बाद युवती भी अब हर्ष का अनुभव कर रही है। पुलिस अब इस युवती के जिले की पुलिस से सपंर्क करने की कोशिश कर रही हैं।