Ad Code

किसानो के कर्ज माफी की घोषणा, अभी नियम तय नही, बैंक टेंशन में | Shivpuri News

शिवपुरी। प्रदेश के नए सीएम कमलनाथ ने प्रदेश के सत्ता संभालते ही मप्र के किसानो के 2 लाख रूपए के कर्ज माफी की घोषणा तो कर दी है,लेकिन इसके लिए अभी सरकार ने कोई गाईड लाईन जारी नही की हैं,इस कारण बैक टेंशन में आ गए है जिससे किसानो से बकाया की वसूली बंद हो गई है।

जैसा कि विदित है कि किसानो के कर्जा माफी की घोषणा के बाद सभी किसानो ने अपना बकाया बैंक में भरना बंद कर दिया है,सभी किसानो को लगता है कि हमारा कर्जा अब सरकार ने माफ कर दिया हैं,लेकिन मप्र सरकार ने तो सिर्फ अभी कर्जा माफी की घोषणा की हैं कर्ज माफी की कोई गाईड लाईन जारी नही की है।


बताया जा रहा है कि सहकारी बैंकों के अलावा राष्ट्रीकृत बैंकों में जिन किसानों का कर्जा है,उनका मार्च मप्र राज्य स्थित राष्ट्रीयकृत व सहकारी बैकों में अल्पकालीन फसल ऋर्ण के रूप में शासन द्धारा पात्रता अनुसार पात्र पाए गए किसानों का 2 लाख रूपए सीमा का 31 मार्च 2018 की स्थिती में बकाया फसल ऋण माफ किया जाता हैं।

इस आदेश में बैंक प्रबंधको को यह लाईन समझ ऋण माफ किया जाता हैं। इस आदेश में बैंक प्रबंधको को यह लाईन समझ नही आ रही है कि शासन द्धारा पात्रता जिनका 2 लाख रूपए का ऋण माफ किया गया हैं। लेकिन बैंको में ऐसे भी कई किसाने कर्जदार है जिनका 2 लाख से भी ज्यादा है उनका निराकरण कैसे किया जाना हैं। यह अभी तय नही हैं,इस स्थिती में बैंक प्रबंधन परेशान दिख रहे हैं। हाालाकि सरकार ने पात्रता के पैमाने तय करने के लिए एक समिति बना दी हैं,जो पात्र किसानो के नियम बनाऐगी।