Ad Code

रोचक खबर: कांग्रेसी नेता की दंबगई और शासकीय तालाब चोरी हो गया ! | SHIVPURI NEWS

सतेन्द्र उपाध्याय, शिवपुरी। खबर जिले के कोलारस अनुविभाग से चौकाने बाली आ रही है। यहां आज एक शासकीय तालाब चोरी हो गया। जी हां यह बात पूर्णत सत्य है। परंतु उक्त घटना को अंजाम दिया है वहां के स्थानीय कांग्रेसी नेता ने। जिसने इस तालाब को चोरी कर एक ग्राम पंचायत से हटाकर दूसरे जगह सिप्ट कर दिया। इतना ही नहीं इस तालाब का भूमि पूजन भी विधायक महेन्द्र सिंह यादव दूसरे स्थान पर कर चुके थे। परंतु अब यह तालाब एक कांग्रेसी नेता की जमींन को फायदा पहुंचाने के लिए एक ग्राम पंचायत से दूसरी पंचायत में चोरी होकर पहुंच गया।

चुनाव के दौरान पूरा प्रशाशनिक अमला मुस्तैदी के साथ आचार संहिता को पालन कराने में लगा हुआ था। दूसरी तरफ भ्रष्टाचार की सीमाएं पार कर एक तालाब जिसकी लागत मूल्य 1 करोड़ 69 लाख है उसे चोरी कर लिया गया है। जी हां तालाब चोरी हो गया है आप सुनकर चौंक गए होंगे मगर ये सच है , चुनाव से ठीक पहले मुख्यमंत्री सरोवर योजना के तहत जिले में कुल चार तालाब की स्वीकृति मिली।

इन तालाब की स्वीकति के बाद क्षेत्रीय विधायक महेंद्र सिंह यादव द्वारा ने ग्राम पंचायत भाटी के ग्राम बछौरिया में उक्त तालाब का विधिबत तरीके से भूमिपूजन भी किया। जिसे प्रशासनिक स्तर से पूर्णत स्वीकति मिल गई थी। लेकिन जब पूरा अमला चुनाव की तैयारियों में लगा था तभी ,कुछ भू माफियाओं की मिलीभगत से ये स्वीकृत तालाब चमत्कारिक रूप से चोरी हो गया।

इस तालाब को चोरी कर ग्राम पंचायत किलवानी के सिंघारपुर गांव की सीमा में बनता पाया गया। बताया गया है कि उक्त गांव में कांग्रेसी नेता की डेढ सो बीघा जमीन उक्त जमींन के पास स्थिति है। जिसके चलते उक्त नेताजी को फायदा पहुंचाने इस तालाब को प्रशासन ने चोरी करबा दिया है। किसानों की जमीन पर निर्माण के कारण अब विवाद की स्थिति पैदा हो गई है , जिन किसानों की जमीन पर ये निर्माण किया जा रहा है , वो अब आंदोलन पर उतारू हैं , जबकि ठेकेदार की दवांगई से किसानों की जान पर आ पड़ी है।

इनका कहना है
यह मामला मेरे पास आया था। जिसे लेकर मैने दोनों पटवारीयों को जांच करने के आदेश दिए है। इसके साथ ही यह जगह दोनों ग्राम पंचायत की सीमा पर है। जिसे लेकर यह स्थिति निर्मित हो रही है। अब आप नेताजी बाली बात बता रहे है यह तो मेरे सामने नहीं आई है। हमने आरईएस को इस तालाब की स्वीकति कहा हुई है,इसके लिए पत्र लिखा है। अभी उनका जबाब नहीं आया है। उनका जबाब आने के बाद ही कुछ क्लीयर होगा ।
आशीष तिवारी आईएएस, एसडीएम कोलारस