ads

Shivpuri Samachar

Bhopal Samachar

shivpurisamachar.com

ads

केपी सिंह समर्थको को मुंह चिढाते नजर आए केपी के मंत्री के बधाई होर्डिंग्स | SHIVPURI NEWS

शिवपुरी। चुनावो के परिणामो के बाद शिवुपरी जिले के लिए सबसे बडी खबर पिछोर विधायक केपी सिंह की रही। मप्र की राजनीति का भी यह सबसे बडा घटनाक्रम रहा कि कमलनाथ की सरकार में केपी सिंह को जगह नही मिली। जैसे की कांग्रेस ने मप्र का जीत का हार पहना और कांग्रेस के कदम प्रदेश में सरकार बनाने के लिए बढे सीएम तय नही था, लेकिन केपी सिंह समर्थको ने यह तय कर दिया था कि इस बार सरकार में कैबीनेट मंत्री केपी सिंह अवश्य होंगें।

सरकार बनी, कमलनाथ प्रदेश के नाथ बने। परंतु केपी सिंह कैबीनेट में नही जगह बना सके। समर्थको को यह बात आसानी से नही पच रही हैं। आज सुबह शिवपुरी सामाचार डॉट कॉम ने यह सबसे पहले खबर प्रकाशित की थी कि मंत्रीयो की लिस्ट में केपी सिंह को जगह नही हैं। 

6 बार से पिछोर में कांग्रेस को कब्जा दिलाने वाले केपी सिंह के समर्थको में काफी नाराजगी है। आज भोपाल में केपी सिंह के समर्थक धरने पर बैठ गए और जमकर नारेबाजी भी की। शिवपुरी मे भी केपी सिंह के समर्थक निराश देखे गए। 

समर्थको ने यह मान ही लिया था आज केपी सिंह शपथ लेंगें। इसी कारण मंत्री बनने की घोषणा से पूर्व् ही उनके समर्थको ने शहर के चौराहे पर मंत्री बनने की बधाई के होर्डिंस लगा दिए। जैसे ही भोपाल से यह खबर आई की मंत्री मंडल में नाम नही है,लेकिन समर्थको को उम्मीद थी लास्ट समय में शायद कुछ हो जाएं।

भोपाल में नए नवेली मंत्री शपथ ग्रहण कर रहे थे। शिवपुरी में लगे बधाई होर्डिग्स मुंह चिढाने लगे। समर्थको ने आनन फानन में बधाई होर्डिंग को उतार दिए। केपी सिंह मंत्री क्यो नही बने उससे ज्यादा चर्चा इन बधाई होर्डिग्स की रही। अति उत्साह आज केपी समर्थको को भारी पड गया और जगहसाई अलग से हो गई। 

ऐसे गायब हो गया मंत्री की लिस्ट से केपी सिंह का नाम
पिछोर के विधायक केपी सिंह के एक समर्थक न अपना नाम न छापने की शर्त पर बताया कि केपी सिंह की पैरबी स्वंय सासंद सिंधिया की रहे थे,लेकिन ऐन समय पर उनका नाम विधानसभा अध्यक्ष के लिए चला दिया गया,केपी सिंह ने इस पद को स्वीकार नही किया और भोपाल से रात ही चले आए और अपने गांव करारखेडा आ गए। आज दोपहर के लगभग 11 बजे केपी सिंह करारखेडा से ग्वालियर चले गए। केपी सिंह का मोबाईल बंद आ रहा था,केवल उनके खास सर्मथक उनके संपर्क में थे,दिन भर उनसे प्रतिक्रिया के संपर्क करने का प्रयास किया गया लेकिन संपर्क नही हो सका। 
Share on Google Plus

About Bhopal Samachar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.