Ad Code

किसानो का यूरिया के लिए हंगामा,पुलिस पर पिटाई का आरोप, संकट टल नही रहा | Shivpuri News

शिवपुरी। भाजपा को सत्ता से बेदखल करने वाला किसान की फसलो पर संकट हैं, खाद-यूरिया का संकट बना हुआ है। खबर करैरा से आ रही है कि किसानो ने खाद के लिए हंगामा कर किया, अस्पताल में भर्ती किसान ने पुलिस पर पिटाई का अरोप लगाया तो वही पुलिस ने कहा कि धक्का मुक्की में दब जाने से चोटे आई हैं।

जानकारी के अनुसार  बुधवार की रात दस दिन बाद रैक आ गई। इसमें से 2 हजार 227 मीट्रिक टन यूरिया शिवपुरी को मिला और 790 मीट्रिक टन यूरिया श्योपुर के लिए आया। वहीं गुरुवार को करैरा में सुबह से ही किसान खाद के इंतजार में खड़े थे। यहां दोपहर 12 बजे खाद का ट्रक आया। 

कंपाने वाली ठंड में चार घंटे से खड़े किसानों ने जैसे ही खाद का ट्रक देखा तो हंगामा मचा दिया। पुलिस ने बड़ी मुश्किल से स्थिति संभाली और किसानों को लाइन में लगवाया। हालांकि हंगामा कर रहे किसानों का आरोप है कि पुलिस ने उन्हें डंडों से पीटा, जिससे उन्हें चोट आई है। हालांकि पुलिस पीटने की बात को गलत बता रही है। 

हालांकि रैक आने से जिले के किसानों को 10 दिन बाद राहत मिली। बुधवार देर रात एनएफएल विजयपुर से 3 हजार मीट्रिक टन रैक आ गई। इसमें से 2 हजार 227 मीट्रिक टन यूरिया शिवपुरी को मिला जबकि 790 मीट्रिक टन यूरिया श्योपुर भेजा गया है। इससे पहले जिले में सिर्फ एक बार 17 दिसंबर को 1900 मीट्रिक टन यूरिया आया था जो किसानों को देने के लिए 86 सोसायटियों को सौंप दिया गया था। इसके बाद भी खाद की किल्लत थी। पिछली बार कई किसानों को खाद ही नहीं मिल पाया था। 

बदरवास में पुलिस की निगरानी में बांटा खाद 

खाद आने के बाद किसानों के गुस्से का सामना सोसाइटी संचालकों को न करना पड़े, इसलिए बदरवास में सोसाइटी संचालकों ने पुलिस बल मांगा था। आवेदन आने के बाद पुलिस ने भी इस मामले में कानून व्यवस्था कायम रखने में मदद की बात कही थी। यहां पुलिस की निगरानी में ही खाद बांटा गया। 

इनका कहना हैं
एनएफएल विजयपुर से 3 हजार मीट्रिक टन खाद की रैक आ गई है। 2 हजार 227 मीट्रिक टन यूरिया शिवपुरी को मिला जबकि 790 मीट्रिक टन श्योपुर को भेजा गया है। यूरिया सोसाइटियों को भेजा रहा है। दुकानदारों को भी इस संबंध में बैठक लेकर निर्धारित दाम पर यूरिया बेचने को कहा गया है। कोई दिक्कत नहीं आएगी। 
आरएस शाक्यवार, उप संचालक कृषि, शिवपुरी