Ad Code

Annual Function: बच्चों का मनोबल बढ़ाकर उन्हे उत्साहित करें: एडिशनल सीईओ गुप्ता

शिवपुरी। शिक्षा के क्षेत्र में बच्चों को अपनी रुचि और पंसद के अनुसार काम करने का निर्णय लेने दें। ऐसा न हो कि बच्चे की रुचि इंजीनियरिंग करने की है और आप उसे डा. बनने के लिए प्रेरित कर रहे हों तो ऐसा नहीं होना चाहिए। बच्चे की जिस क्षेत्र और विषय में उसकी रुचि है उसके लिए ही प्रोत्साहित करें। 

उक्त विचार अतिरिक्त जिला पंचायत के अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी और सामाजिक न्याय विभाग के उप संचालक ब्रहमेन्द्र  गुप्ता ने पोहरी बाइपास स्थित एक निजी होटल में आयोजित राजेन्द्र मेमोरियल हायर सेकेड्ररी के वार्षिक उत्सव समारोह में मुख्य अतिथि की हैसियत से व्यक्त किए। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे बीआरसीसी अंगद सिंह तोमर ने कहा कि विद्यालय द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में छात्र-छात्राओं  ने गुरुजनों के मार्गदर्शन में अच्छे परिणाम देकर विद्यालय का नाम रोशन किया है। 

इस अवसर पर विद्यालय द्वारा बालमेला भी लगाया गया जिसमें बच्चों ने अपनी-अपनी पंसद की  दुकानें लगाई और दुकानों पर अभिभावकों ने खरीददारी कर बच्चों का उत्साहवर्धन किया। वार्षिक उत्सव की शुरूआत दोपहर सरस्वती वंदना से हुई जिसमें निकिता शर्मा, गुंजन शर्मा ने अपनी सुमधुर वाणी से  मां वीणा-वादिनी का वंदन किया। वहीं स्वागत गीत रौनक शर्मा, निकिता शर्मा और निशा सोनी ने प्रस्तुत किया। इसके बाद स्कूली बच्चों ने एक से बढक़र एक शानदार सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए जिन्हें अभिभावक सहित उपस्थित जनों ने बहुत सराहा। वार्षिक उत्सव के सांस्कृतिक कार्यक्रमों में प्रमुख रूप से गणेश वंदना में ओ माय फ्रेण्ड गणेशा....मेरे पापा....सोलोडांस.....बापू साँग....राजस्थानी लोकनृत्य के अलावा देशभक्ति से ओतप्रोत ऐ वतन ऐ वतन ....कहते है सब हमको इंडिया वाले ....फिल्मी नृत्य ओम शांति ओम....भगवान भोलेनाथ का तांडव नृत्य की शानदार प्रस्तुति विनीत शर्मा एवं गु्रप द्वारा आकर्षक प्रस्तुति  दी गई। 

इसके अलावा नारी शक्ति से ओतप्रोत दहेज प्रथा पर नाटक की प्रस्तुति सभी के द्वारा सराही गई। हॉरर डांस , आसपास है खुदा के अलावा रौनक शर्मा द्वारा प्रस्तुत मोर पनघट नृत्य आकर्षण का केन्द्र रहा। कार्यक्रम का संचालन स्कूल के शिक्षक देवेन्द्र पाठक ने किया और आभार प्रदर्शन स्कूल संचालक राजकुमार शर्मा द्वारा किया गया। इस कार्यक्रम में  प्रमुख रूप से बीआरसीसी अंगद सिंह तोमर, डा. बनवारी लाल शर्मा, स्कूल शिक्षिका अनसुईया शर्मा, शैलजा चंदेल, सीमा शर्मा, ज्योतिशर्मा, शिक्षक महेन्द्र शर्मा का विशेष सहयोग  रहा।  इस अवसर पर विभिन्न स्कूलों के संचालक के अलावा विद्यालय के छात्र-छात्राएं  काफी संख्या में मौजूद थे।