विधायक के आश्वासन पर उठे भूख हडताल पर बैठे किसान, कहा 24 घंटे में पहुंचेगा खेतों में पानी | Shivpuri News

शिवपुरी। अपने खेतो के प्यासे कंठो की प्यास बुझाने को लेकर भूख हडताल पर बैठे किसानो की भूख हडताल समाप्त होने की खबर आ रही है। बताया जा रहा है कि पोहरी के कांग्रेस के विधायक सुरेश राठखेडा के कार्रवाई के आश्वासन पर यह आंदोलनकारी किसानो ने भूख हडताल समाप्त कर दी है। विधायक ने भूख हडताल पर बैठे किसानो को जूस पिलाकर यह हडताल तुडवाई। 

जैसा कि विदित है किे जल संसाधन विभाग ने बैराड़ के नजदीक पचीपुरा तालाब व नहर का निर्माण दो साल पहले कराया है। यह निर्माण 27 करोड़ रुपए लागत से किए गए, लेकिन काम ठीक नहीं होने से पांच में से दो गांवों में पानी नहीं पहुंच रहा है। इन दोनों गांव में जमीन बंजर पड़ी है। जिन किसानों ने थोड़ी बहुत जमीन में बोवनी कर दी है, वहां पानी नहीं मिलने से फसल सूख रही है। किसान कलेक्टर से भी शिकायत कर चुके हैं,फसलो को पानी नही मिलने और अपनी अनसुनवाई ने होने के कारण किसानो को कोई रास्ता नही दिखा तो वह सोमवार से बैराड में तहसील कार्यालय के सामने बैठ गए।

किसानो ने जल संसाधन विभाग के अधिकारियो को बैरंग लौटाया 
कल रात ठंड के कारण भूख हडताल पर बैठे किसानो में से 4 किसानो की तबीयत खराब हो गई। किसानों के आंदोलन की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंचे जल संसाधन विभाग के एसडीओ बृजेश भार्गव एवन सब इंजीनियर आनंद जैन ने हड़ताली किसानों से बात कर उनके खेतों तक पानी पहुंचाने की बात कही लेकिन मौके पर मौजूद किसानों ने उनसे कहा कि आप लोग झूठ बोलते हो पिछले ढाई महीने में किसानों ने कई बार नहर मरम्मत एवं पुनर्निर्माण के लिए प्रशासनिक अधिकारियों के यहां गुहार लगा चुके हैं लेकिन उनकी कहीं सुनवाई नहीं हो रही है। ओर आगे कोई बातचीत न करते हुए अधिकारियो को बैरंग लौटा दिया। 

किसान आंदोलन से शिवुपरी कलेक्ट्रेट में भी हलचल
भाजपा सरकार के समय बने तालाब में भ्रष्टाचार का हल्ला और किसानो के द्धवारा बार—बार शिकायतो के बाद भी कार्रवाई न होने के कारण किसान भूख हडताल पर बैठ गए। नई नवेली कांग्रेस की सरकार में किसानो के हडताल पर बैठने से शिवपुरी कलेक्ट्रेट में भी हलचल तेज हो गई। कलेक्टर शिवपुरी शिल्पा गुप्ता ने तत्काल इस मामले में बैठक् बुलवाई। 

बताया जा रहा है कि इस बैठक् में जलसंसाधन विभाग के ईई ओपी गुप्ता ओर तमाम अधिकारी सहित पेाहरी एसडीएम मुकेश सिंह और बैराड के तहसीलदार आशीष जैसवाल और आंदोलन से जुडे किसाना के 2 प्रतिनिधि उपस्थित थे। कलेक्टर शिवपुरी ने इस मामले मेें पोहरी एसडीएम को मौके पर जाकर जाकर जांच करने के ओदश दिए। बताया गया है कि पोरही एसडीएम ने पंचीपुरा तालाब के नहर और खेतो पर जाकर मुआवना किया है ओर अपनी जांच रिर्पोट 24 घटें के अंदर कलेक्टर को सौपेगें।  

पोहरी विधायक पहुंचे धरना स्थल पर, आश्वासन के बाद भूख हडताल से हटे किसान
बताया गया है कि अपने क्षेत्र के किसानो के भूख हडताल पर बैठने की खबर पर भोपाल से लोटकर सीधे बैराड पर पहुंचे जहां पोहरी के विधायक सुरेंश राठखेडा ने किसानो से कहा कि मेरी प्रशासन से बातचीत हो चुकी है। 24 घटें के अंदर नहर में पानी पहुंचना लगेगा,अगर ऐसा नही होता है तो कल से आपकी लडाई मेंरी होेगी। भाजपा के शासन काल में बनी इन नहरो के निर्माण में भ्रष्टाचार हुआ है। 

विधायक सुरेंश राठखेडा ने शिवपुरी समाचार डॉट कॉम से बातचीत करते हुए कहा कि इस निर्माण की जांच हो दोषियो पर कार्रवाई हो नही तो इस पूरे मामले को विधानसभा पटल पर रखा जाऐगा। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics