Ad Code

शिवपुरी चुनाव: देखने को लावो-लश्कर, लेकिन रण में अकेलीं हैं राजे | Shivpuri News

ललित मुदगल एक्सरे/शिवपुरी। शिवपुरी विधानसभा के इतिहास उठा लीजिए, यह सीट सिंधिया परिवार को समर्पित रही है। यशोधरा राजे सिंधिया भाजपा की अजेय नेता हैं। सरकार में उनकी गिनती भी पवारफुल मंत्रियो में होती है। यशोधरा राजे के साथ हमेश लावो-लश्कर चलता है। स्वाभाविक भी है। इस चुनाव में भी चल रहा है लेकिन यह भी बात सौलहे आने सच है कि इस रण में राजे अकेली है। आईए इस पूरे मामले का एक्सरे करते हैं। 

जैसा कि विदित है कि चुनाव में विजयी श्री का वरण करने के लिए साम, दाम, दंड, भेद का उपयोग किया जाता है। जो गोपनीय रहता है। समाने से सिर्फ प्रचार दिखता है, इस चुनाव में ऐसा ही हो रहा है। यशोधरा राजे इस बार प्रचार की कमान मुख्य रूप से ग्रामीण में संभाल रखी है, और शहरी में उनके पुत्र अक्षय भंसाली घर-घर जाकर अपनी मां के लिए वोट मांग रहे हैं।

देखने में आ रहा है कि यशोधरा राजे के साथ पूरा लाव-लश्कर चल रहा है, और उनके पुत्र अक्षय भंसाली के साथ भी शिवपुरी के स्थानीय नेताओं का पूरा एक काफिला घूम रहा है। चुनाव का एक पक्ष यह और दूसरा पक्ष कांग्रेस की बात करें तो सोशल मीडिया पर यूथ ने कब्जा कर रखा है। खुल्लेआम आचार संहिता की धज्जियां उडाते हुए लाईव सर्वे चल रहे हैं।

चुनाव आयोग के नियमानुसार जब तक मतदान पूरा नही हो जाता तब तक किसी के हार जीत का दावा नही कर सकते है और न ही किसी भी प्रकार का सर्वे कर सकते है और न ही किसी सर्वे के परिणाम प्रसारित या प्रकाशित किए जा सकत हैं। टीवी, अखबार, सोशल मीडिया या किसी भी माध्यम से ऐसा नहीं किया जा सकता लेकिन यशोधरा राजे की हार बताने वाले दर्जनों लाइव सर्वे सोशल मीडिया में तैर रहे हैं। निश्चित रूप से यह निष्पक्ष चुनाव के लिए घातक है। इसे चुनाव प्रभावित करने की साजिश कहा जाता है। 

अब समर्थको की बात करते है, राजे ओर भंसाली के साथ समर्थकों पूरा फौज पाटा है पर कैसा, दिल से या मुंह दिखाकर राजे के सामने नंबर बढाने के लिए ? सोशल मीडिया की गतिविधियों को देखकर तो ऐसा ही लगता है। किसी भी भाजपाई या राजे समर्थक ने सोशल मीडिया पर चल रहे लाईव सर्वे की शिकायत नही की है। इससे से यही लगता है कि राजे पूरे फौज पाटे के बाद ही रण में अकेली हैं। यह तो खतरनाक है क्योंकि इस बार सामने प्रत्याशी एक ताकतवर समाज से है, यह समाज ही शिवपुरी की हार जीत का निर्णय करता है।