Ad Code

पोहरी चुनाव: कल की सभा के बाद तय होगें समीकरण, भाजपा और बसपा में हो सकता है मुकाबला | Pohri News

शिवपुरी। जिले के पोहरी विधानसभा में चुनाव अभी त्रिकोणिय होने बाला है। यहां भाजपा से 2 बार विधायक रहे प्रहलाद भारती चुनावी मैदान में है। वहीं कांग्रेस के सुरेश राठखेडा यहां चुनाव लड रहे है। परंतु यहां तीसरे प्रत्याशी के रूप में जो सामने आए है वह है बसपा के कैलाश कुशवाह। भाजपा से बागी होकर बसपा का दामन थामकर चुनाव लड रहे कैलाश कुशवाह ने यहां चुनावी आकडें बिल्कुल बदल दिए है। अभी तक पोहरी विधानसभा में ब्राह्मण और धाकड समुदाय में मुकाबला आमने सामने का होता आया है। परंतु इस बार दोनों ही प्रमुख दलों ने धाकड समुदाय के प्रत्याशीयों पर भरोषा जताते हुए प्रत्याशी बनाया है। 

भाजपा से प्रहलाद भारती जो कि विकाश के नाम पर चुनावी मैदान में है। वही बसपा के उम्मीदरवार कैलाश कुशवाह,कुशवाह समाज के आधार पर चुनावी मैदान में हल्ला मचाए हुए है। परंतु इस क्षेत्र में कांग्रेस प्रत्याशी को काफी कमजोर आंका जा रहा है। बताया जा रहा है कि सुरेश राठखेडा का क्षेत्र में उतना जनाधार नहीं है जो वह चुनावी मैदान में जीत तक पहुंच सकें। सुरेश राठखेडा के मैदान में होने से धाकड समुदाय के जो बोटर प्रहलाद भारती के खाते में जाने थे। उनका नुकसान तय है। वही प्रहलाद भारती इस क्षेत्र में जितने वोट भाजपा प्रत्याशी के कटने है। उतने वह इस क्षेत्र में अन्य जाती से जुटाने में कामयाब हो सकते है। 

नतीजा जो भी हो परंतु आज की स्थिति पर बात करें तो यहां से निर्दलीय चुनावी मैदान में उतरे विवेक पालीवाल के फार्म बापिस लेने के बाद यहां सीधा मुकावला बीएसपी प्रत्याशी और भाजपा में होना तय माना जा रहा है। अगर आंकडों की बात करें तो यहां ब्राहमण समुदाय किसी भी स्थिति में धाकड समुदाय के प्रत्याशी को बोट करने की स्थिति में नहीं दिखाई दे रहा है। ऐसे में भी बीएसपी प्रत्याशी को फायदा तय माना जा रहा है। अब कल कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थन में सभा करने आ रहे सांसद सिंधिया की सभा के बाद यहां स्पष्ट हो सकता है कि इस क्षेत्र में कांग्रेस के पास कैसा जनाधार है। हांलाकि प्रहलाद भारती के समर्थन में सीएम बैराड में सभा कर चुके है।