अमृत योजना के खिलाफ थमे रहे गए बसों के पाहिए, जनमानस रहा परेशान | Shivpuri News

शिवपुरी। अमृत योजना के तहत ग्वालियर से गुना के बीच प्रारंभ हुई इंटरसिटी बस सेवा के विरोध में शिवपुरी के बस ऑपरेटरों ने आज से अपनी अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू कर दी है जिस कारण बस स्टेण्ड से लगभग 250 बसों का संचालन नहीं हुआ जिससे करैरा, कोलारस, खतौरा, पिछोर, खनियांधाना, पोहरी, बैराड़, गुना, ग्वालियर, श्योपुर, अशोकनगर आदि जाने वाले यात्री परेशान रहे।

 हालांकि बस स्टेण्ड पर आज प्रतिदिन की तरह ग्वालियर-गुना इंटरसिटी बस अवश्य आई और राजस्थान की गाडिय़ों का संचालन भी हुआ। बसें न चलने से यात्री परेशान होते देखे गए। वहीं बस ऑपरेटर बस स्टेण्ड पर सुबह से ही कुर्सी डालकर जमे रहे। बस ऑपरेटर यूनियन के अध्यक्ष रणवीर सिंह और संरक्षक मुकेश सिंह चौहान का कहना है कि उनकी हड़ताल अनिश्चितकालीन रूप से जारी रहेगी। 

यदि प्रशासन और सरकार ने हम पर सख्ती की तो हम अपने परमिट सरेंडर कर देंगे, लेकिन बसें नहीं चलाएंगे। वहीं दोपहर में बस ऑपरेटरों की कलेक्टर शिल्पा गुप्ता से भी उनके कार्यालय में चर्चा हुई, लेकिन चर्चा में कोई हल नहीं निकला और बातचीत विफल रही। समाचार लिखे जाने तक गतिरोध जारी था। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार अमृत योजना के तहत सरकार ने पूरे प्रदेश में अमृत सिटी बसों का संचालन शुरू किया है। इसी कड़ी में ग्वालियर से गुना के बीच इंटरसिटी वीडियोकोच बस प्रारंभ हुई है जिसके संचालन का शिवपुरी के बस ऑपरेटर विरोध कर रहे हैं। दो दिन तक बस ऑपरेटरों ने शिवपुरी बस स्टेण्ड में बसें घुसने नहीं दीं और तीसरे दिन प्रशासन ने जब सख्ती दिखाई तो पुलिस ने हस्तक्षेप कर वीडियोकोच बसों का बस स्टेण्ड में प्रवेश कराया। 

इसके बाद कल बस ऑपरेटरों ने प्रशासन को ज्ञापन दिया कि यदि सिटी बसों का संचालन नहीं रूका तो वह 18 अक्टूबर से अपनी बसों को सडक़ पर खड़ा कर देंगे और बसों का संचालन नहीं होगा। इसके फलस्वरूप आज सुबह से शिवपुरी के बस ऑपरेटरों ने हड़ताल शुरू कर दी है और आज बस स्टेण्ड से बसों का संचालन नहीं हुआ। 

करोड़पतियों को फायदा पहुंचाने की योजना है अमृत योजना
स्थानीय बस ऑपरेटर रणवीर सिंह से जब पूछा गया कि जब वह इंटरसिटी बसों को चलाने का विरोध क्यों कर रहे हैं तो उनका कहना था कि एक तो अमृत सिटी योजना के तहत एक ही सिटी में सिटी बसों का संचालन होता है न कि हाईवे पर बसें चलतीं। दूसरी आपत्ति उन्हें यह है कि अमृत सिटी योजना के तहत करोड़पतियों को ही बसों के परमिट मिले हैं, क्योंकि एक करोड़ रूपया पहले जमा कराना हर किसी के वश में नहीं है। 

तीसरी बात यह है कि सिटी बसों को जो समय दिया गया है उसी समय पर स्थानीय बसें भी चलती हैं ऐसे में कैसे हम बसें चला पाएंगे। अमृत सिटी योजना गरीबों को और गरीब करने की योजना है। इस कारण उनकी लड़ाई जारी रहेगी और सरकार यदि मजबूर करेगी तो वे अपने परमिट सरेंडर कर देंगे, लेकिन बसें नहीं चलाएंगे। 

रात्रिकालीन वीडियोकोच बसों का संचालन रहेगा जारी
शिवपुरी के बस ऑपरेटरों की हड़ताल से रात्रिकालीन वीडियोकोच बसों का संचालन अप्रभावित रहेगा। हालांकि बस ऑपरेटरों ने उनसे हड़ताल में सहयोग करने का आश्वासन मांगा था, लेकिन बताया जाता है कि उन्हें इसमें सफलता हासिल  नहीं हुई और रोजाना की तरह आज भी इंदौर, भोपाल आदि शहरों में जाने वाली वीडियोकोच बसें चलेंगी।
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics