पुन: सीवर खुदाई ने दिवाली पर निकाला व्यापारियों का दिवाला

शिवपुरी। शहर में इन दिनों भाजपा का विकास व्यापारियों के लिए गले की फांस बन गया है। इन दिनों दीपावली के भरे सीजन में व्यापारियों की हालत अत्यंत दयनीय हो चुकी है उसका कारण है विकास। इस विकास ने दीपावली से पहले व्यापारीयों का दिवाला निकाल दिया है। इस दीपावली के सीजन में सीवर खुदाई कार्य प्रारम्भ किया गया है यह रोड जो कि शिवपुरी शहर का हृदय स्थल है और अधिकांश व्यापार और व्यवसाय यहीं से संचालित होता है। 

इस महत्वपूर्ण मार्ग पर कपड़े, रेडीमेड, रंग, पेंट, कलई, चूना, जूते चप्पल, बर्तन, कोसमेटिक, घड़ियां, मिठाई आदि की दुकानेें हैं। लेकिन 10 दिन से भी अधिक समय से कोर्ट रोड़ पर व्यापार और व्यवसाय सड़क निर्माण तथा सीवर लाईन डालने के कार्य के चलते ठप्प है। इस कारण दीपावली जैसे महत्वपूर्ण त्यौहार पर भी कोर्ट रोड़ के दुकानदार हाथ पर हाथ रखे बैठे हैं। 

सड़क निर्माण करने वाले ठेकेदार ने अस्पताल चौराहे से लेकर गांधी चौक तक पूरी सड़क खोद दी है। वहीं माधव चौक हनुमान मंदिर के पास 8 पाईपों को सीवर लाईन से जोड़ने का काम पिछले 10 दिनों से अधुरा पड़ा है। ठेकेदार ने लाईन जोड़ने के लिए वहां 10 से 12 फिट गहरा गड्डा खोदकर डाल दिया है और दुकानों के आगे मिटटी के बड़े-बड़े ढेर लगा दिए, जिससे कोर्ट रोड़ पर आवागमन बंद हो गया है। ऐसी स्थिति मेें नवरात्रि पर चलने वाला व्यापार ठप्प हो गया। जिससे दुकानदारों में ठेकेदार और पीएचई विभाग के खिलाफ रोष उत्पन्न हो गया है और वह कलेक्टर से इसकी शिकायत करने की बात कह रहे हैं। 

विदित हो कि कोर्ट रोड़ पर डेढ़ से दो वर्ष पूर्व सीवर लाईन डालने का कार्य किया गया था, उस समय अस्पताल चौराहे से माधव चौक हनुमान मंदिर तक ठेकेदार ने सीवर लाईन की खुदाई कर दी थी। लेकिन हनुमान मंदिर के पास से लेकर माधव चौक तक 8 पाईप न जोड़कर कार्य बंद कर दिया था और तब से शहर का मुख्य बाजार कहा जाने वाला कोर्ट रोड़ धूल और गड्डों से पटा पड़ा था। जिससे वहां के दुकानदार और निवासी काफी परेशान थे। 

इस समस्या को देखते हुए कोर्ट रोड़ पर नगर पालिका ने सड़क निर्माण का कार्य बीते कुछ दिनों पूर्व प्रारंभ कराने का निर्णय लिया और उक्त स्थल पर खुदाई शुरू कर रोड़ डालने का कार्य प्रारंभ किया और जैसे सीवर लाईन के ठेकेदार ने हनुमान मंदिर पर शेष बची सीवर लाईन की खुदाई शुरू कर दी। जिस कारण सड़क बनने का कार्य भी प्रभावित हो गया और सीवर के गड्डे खोदकर ठेकेदार ने वहां धीमी गति से कार्य शुरू कर दिया। जिससे कोर्ट रोड़ जाने का रास्ता पिछले 10 दिनों से बंद है। 

सीवर खुदाई के कारण सड़क डलने का कार्य भी धीमा हो गया और नवरात्रि तक सड़क निर्माण करने का दावा कर रही निर्माण कम्पनी ने अब काम भी बंद कर दिया है। इस पूरे मामले में पीएचई विभाग के ईई श्री बाथम से चर्चा की गई तो उनका कहना था कि आज शाम तक लाईन जोड़ने का कार्य पूर्ण कर लिया जाएगा। जबकि सड़क निर्माण का कार्य कर रहे ठेकेदार पवन धाकड़ का कहना है कि सीवर ठेकेदार के कारण सड़क निर्माण में अड़चने आ रही हैं। जबकि पिछले डेढ़ वर्ष से पीएचई ने वहां कोई काम नहीं किया और जब सड़क बननी शुरू हुई तो ठेकेदार ने वहां खुदाई कर दी। ऐसी स्थिति मेें सड़क का निर्माण समय पर नहीं हो सकेगा। जिसका कारण सीवर लाईन की खुदाई है। 

कोर्ट रोड सड़क निर्माण का कार्य बंद 
अस्पताल चौराहे से माधव चौक चौराहे तक नगर पालिका द्वारा डाली जा रही सड़क का कार्य कल से बंद हो गया है। और अब यह भी स्पष्ट नहीं है कि काम कब तक शुरू हो सकेगा। सड़क निर्माण का काम बंद होने पर ठेकेदार पवन धाकड़ का कहना है कि उनका एक कर्मचारी मंगेश जो गे्रडर का कार्य करता है। वह बीमार हो गया है और उनके पास गिट्टी बिछाने वाला और कोई कर्मचारी नहीं है। जिस कारण सड़क का कार्य कल से बंद है और यह भी स्पष्ट रूप से नही कहा जा सकता कि अब काम कब चालू होगा। 

इनका कहना है
सीवर खुदाई के कारण पहले भी कोर्ट रोड़ के दुकानदार परेशान हो चुके हैं और पीएचई ने फिर से खुदाई शुरू कर दी है। जिस कारण सड़क का निर्माण भी रूक गया है। नवरात्रि से बाजारों मेें रौनक भी बढ़ती है। लेकिन इस बार सीवर खुदाई और सड़क निर्माण ने उनका पूरा धंधा चौपट कर दिया है। अगर जल्द से जल्द इस समस्या से निजात नहीं मिली तो इस बार दीपावली के सीजन पर व्यापारियों को काफी नुकसान उठाना पड़ेगा। 
आशीष जैन तम्बाकू वाले 

सड़क निर्माण का कार्य लगातार जारी है अगर ठेकेदार कर्मचारी न होने की बात कह रहा है तो उसे दूसरे कर्मचारी की व्यवस्था करनी पडेगी लेकिन काम नहीं रोका जाएगा। 
सीपी राय सीएमओ नगर पालिका शिवपुरी
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics