Ad Code

भावांतर योजना में व्यपारियो से माल खरीदने वाले, मण्डी सचिव सहित 7 पर FIR दर्ज करने के आदेश

शिवपरी। मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना में लहसुन एवं प्याज खरीदी में गंभीर अनियमितताएं मिलने पर मंडी सचिव समेत सात लाेगाें पर एफआईआर दर्ज की जाएगी। इस योजना के तहत अधिसूचित कृषि उपज मण्डी शिवपुरी में प्याज एवं लहसुन के क्रय-विक्रय की शिकायत को शासन ने गंभीरता से लेते हुए इसकी जांच हेतु कलेक्टर शिवपुरी को निर्देश दिए थे।

कलेक्टर शिल्पा गुप्ता ने 6 सदस्यीय दल का गठन कर जांच कराई। दल को गंभीर अनियमितताए मिलने पर कलेक्टर द्वारा मण्डी सचिव शिवपुरी रविन्द्र शर्मा के साथ ही लायसेंस प्रभारी एस जायसवाल, मण्डी निरीक्षक प्रांगण प्रभारी राजकुमार शर्मा, सहायक उपनिरीक्षक मनोज आर्य, सहायक उपनिरीक्षक भगवान दास भिलवार, सहायक उपनिरीक्षक सहायक वर्ग तीन ब्रजेश शर्मा एवं सहायक उपनिरीक्षक राकेश गुप्ता सहित योजना में अन्य मण्डी अधिकारी एवं कर्मचारी, व्यापारियों एवं किसानों के विरूद्ध पुलिस में एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिए हैं।

ऐसा हुआ है यहां घोटाला 
जांच दल ने पाया कि जितने रकवे में किसानो ने लहुसन प्यास उंगाया नहीं उतना खरीद लिया, दूसरे जिलों के किसानो का माल भी शिवपुरी में खरीदा गया, जितना माल खरीदा गया उतने टैक्स का पे नही गया। जितना माल फर्मो ने खरीदा उतना माल उनके गोदाम ने नही पाया गया और नही ही उसकी खरीद बिक्री का मिलान सही हो पाया, इससे यही निष्कर्ष निकला कि व्यापारियो ने अपना माल बार-बार बेचा हैं।