मंडी में किसानों से लूट, मूंगफली की लगा रहे थे 1200 रू की बोली, हम्माल बोरियां उड़ाते पकडे

शिवपुरी। शिवपुरी मंडी को अभी भांवातर घोटाले की खबरे की आग अभी बुझी नही थी कि फिर मंडी से किसानो के साथ धोखाधडी की खबरे आने लगी हैं,सीधे-सीधे किसानो के माल की लूट की जा रही है।कल मंडी में किसानो ओर व्यापारियो को बीच किसानो के उपज का कम भाव को लेकर हंगामा हो गया।बताया गया है कि व्यापारियों ने मूगफली की बोली 1200 रूपए से शूरू की तो किसानो ने विरोध शूरू कर दिया, उनका व्यापारियों के साथ मुंहवाद होने लगा। किसान हंगामा करने लगे। इसके बाद भी मंडी प्रबंधन की तरफ से समस्या सुलझाने के लिए कोई अधिकारी-कर्मचारी नहीं आया। कुछ देर बाद व्यापारी मौके से चले गए। इससे गुस्साए किसान कलेक्टोरेट पहुंच गए, लेकिन वहां उन्हें कलेक्टर नहीं मिलीं। किसानों ने एसडीएम को समस्या बताई। 

एसडीएम प्रदीप सिंह तोमर ने मंडी सचिव को फोन लगाकर किसानों की फसलों के सही दाम दिलवाने के निर्देश दिए। एसडीएम के फोन के बाद मंडी सचिव ने व्यापारियों को बुलवाया और दोपहर करीब डेढ़ बजे मौके पर पहुंचकर बोली लगवाना शुरू की। व्यापारियों ने दाम तो बढ़ाए, लेकिन बोली 1550 रुपए से शुरू की। मजबूरी में किसान कम दाम पर फसल बेचकर घर चले गए। 

इस दौरान किसानों ने आरोप लगाया कि मंडी अधिकारी-कर्मचारी और व्यापारियों पर मिलीभगत है। इसलिए उन्हें फसल के कम दाम लगाए जा रहे हैं। मूंगफली का समर्थन मूल्य 4890 रुपए, व्यापारी कम दाम पर खरीद रहे 

सचिव के सामने 1550 से बोली शुरू की 1790 रुपए तक रुकी 
मंडी सचिव अनिरुद्ध सिंह तोेमर ने व्यापारियों से बातचीत की और मंडी शेड के नीचे पहुंचकर मूंगफली की बोली लगवाना शुरू की। यहां भौराना गांव के किसान नरेंद्र सिंह की मूंगफली ढेरी की बोली 1550 से शुरू कराई जो 1790 तक रुकी। किसान से पूछा तो मायूसी के साथ कहा कि अब लौटाकर घर कहां ले जाएंगे। इससे अच्छा 1790 रुपए में ही बेच दें। 

हम्माल किसान का माल चोरी करते पकडे 
बूढ़ीबरौद निवासी किसान रणवीर रावत की सोयाबीन की मंडी में बोली लगी। मंडी प्रांगण में दफ्तर के ठीक पीछे बाउंड्रीवाल से लगे चबूतरे पर उपज तुलवाने पहुंचा। यहां बेटे को ट्रैक्टर पर बिठाकर पानी लेने चला गया। इसी बीच चार हम्माल आए और किसान के बेटे से ट्रॉली की लिफ्ट उठाने की बात कही। 

इसी बीच हम्मालों ने चार-पांच बोरियां उठाकर दूसरी तरफ रख दीं। इसी बीच किसान आया और दूसरे किसानों के साथ हम्मालों को पकड़ने की कोशिश की, लेकिन तीन हम्माल भाग गए। राधेश्याम नाम के एक हम्माल को किसानों ने दबोच लिया और उसके हाथ-पैर बांध कर पुलिस को सूचना दी। पुलिस हम्माल को पकड़कर सिटी कोतवाली ले आई, लेकिन बाद में किसान पक्ष की तरफ से शिकायत दर्ज नहीं कराई गई। इसलिए उसके खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई। 

बताया गया है कि मूंगफली का समर्थन मूल्य 4890 रुपए निर्धारित है। पंजीकृत किसानों से मूंगफली सोसायटी खरीदेंगी। व्यापारियों से बातचीत कर किसानों को उचित दाम दिलाने की कोशिश कर रहे हैं।
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics