पहली बारिश में ही बह गया POHRI के विकास का प्रतीक

ग्वालियर। केंद्रीय मंत्री एवं क्षेत्रीय सांसद नरेंद्र सिंह तोमर द्वारा लोकार्पित पुल पहली बारिश में ही बह गया। मंत्री तोमर ने मई 2018 के अंतिम सप्ताह में इसका लोकार्पण किया था। इसे शिवपुरी जिले की पोहरी विधानसभा में विकास का प्रतीक बताया गया था लेकिन सितम्बर के दूसरे सप्ताह तक भी नहीं टिक पाया। 

मई में लोकार्पण हुआ था, सितम्बर में बह गया

पोहरी तहसील अंतर्गत छर्च क्षेत्र के इंदुर्खी में कूनो नदी पर 778 लाख की लागत से इस पुल का निर्माण हुआ था। केंद्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर खुद 29 मई 2018 को खरवाया इंदुर्खी पुल का लोकार्पण करने आए थे। इस अवसर पर उन्होंने इसे पोहरी के विकास का प्रतीक बताया था। विकास की मजबूत बातें भी हुईं थीं। लोकार्पण को अभी 3 महीने ही हुए हैं और क्षेत्र में हुई पहली तेज बारिश में ही पुल का बड़ा हिस्सा बह गया। 

बता दें कि पोहरी से प्रहलाद भारती भाजपा के विधायक हैं। वो पोहरी का परंपरागत रिकॉर्ड तोड़कर लगातार दूसरी बार जीते हैं और तीसरी पारी की तैयारी कर रहे हैं। यह पुल उनकी तैयारियों को गड़बड़ा सकता है। इस पुल के टूट जाने से इस क्षेत्र का राजस्थान से संपर्क टूट गया है। जो छर्च क्षेत्र के आम नागरिकों के लिए बहुत जरूरी था। 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics