गणेशजी की स्थापना को लेकर दो पक्ष भिड़े, पुलिस पहुंची और समझौता कराया

खनियांधाना। आज गणेश चतुुर्थी के अवसर गणेश प्रतिमा स्थापना को लेकर दो समुदायों के बीच विवाद खड़ा हो गया। स्थिति यह बनी कि पुलिस को मामले में दखल देना पड़ा तब कहीं जाकर यह विवाद शांत हुआ। बताया गया है कि कि नगर के अनिल पचौरी को अपने घर के बाहर गणेश जी प्रतिमा विराजमान कराना उस समय मंहगा पड़ गया जब दूसरे समुदाय के लोगों ने इस पर आपत्ति दर्ज कराई, और प्रतिमा रखने पर नतीजा भुगतने की धमकी दे डाली जिसके चलते अनिल पचौरी समेत सभी कार्यकर्ताओं ने प्रतिमा न रखने का मन बना लिया लेकिन जैसे ही यह खबर सोशल साईट्स पर वायरल हुई तो प्रतिमा स्थल पर नगर के हिन्दू संगठन के लोग आ पहुंचे और इस बात पर अड़ गये कि मूर्ती तो विराजमान होकर रहेगी । 

वहां लोगों ने गणेश जी की मूर्ती विराजमान करवा दी। आपत्ती कर्ताओं का तर्क था कि जहां मूर्ति लगाई जा रही है उसके सामने ही उनका धार्मिक स्थल है ऐसे में झांकी में डीजे बजने से परेशानी होगी। मामले को गंभीरता से लेे हुऐ SDOP पिछोर आरपी मिश्रा सहित खनियांधाना थाना प्रभारी प्रदीप वाल्टर अपने दल बल सहित मैाके पर पहुंचे उन्होंने मूर्ति लगाने पर परिणाम भुगतने की धमकी देने वालों को समझाया और जैसे तैसे मामला शांत कराया। इसके बाद दोपहर उपरांत श्री गणेश जी की प्रतिमा विराजमान होकर आरती कराई गई । 
इनका कहना है-
उस मोहल्ले के एक पक्ष के लोग प्रतिमा स्थापना पर आपत्ती कर रहे थे, उनको समझाईश दी गई हैं जिससे वे मान गए हैं
प्रदीप वाल्टर, नगर निरीक्षक थाना खनियांधाना 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics