Ad Code

भगवान भरोसे बैराड स्वास्थ्य केन्द्र, ANM कर रही है धडल्ले से प्रसव, BMO बोले तो क्या हुआ

सुरेन्द्र मुदगल बैराड़। वैसे तो पूरे जिले में स्वास्थय सेवाएं पूरी तरह से वैंटीलेटर पर है। जिले के बैराड कस्बे की हालात इन दिनों दयनीय हालात में है।यहां प्रसूताओं की जान की परवाह किए बिना ही एएनएम कार्यकर्ता प्रसूताओं को प्रसब करा रही है। ऐसा नहीं है कि इस मामले की जानकारी स्वास्थय विभाग के आला अधिकारीयों को नहीं हो अपितु यहां की आशा कार्यकताओं की इन करतूतों की पूरी जानकारी स्वास्थय विभाग के मुखिया को भी है। परंतु वह भी स्टाफ की कमी की बात कहकर पल्ला झाड रहे है।

प्रसूता महिला कलिया यादव पत्नी गोपाल यादव निवासी भिलोडी ने आरोप लगाते हुए बताया है कि उसकी डिलेवरी आशा कार्यकर्ता सरोज धाकड द्वारा कर दी गई। जबकि स्टाफ नर्स नोहसिन खान की उस समय ड्यूटी थी। नर्स के डयूटी पर होने के दौरान भी आशाा कार्यकर्ता द्वारा प्रसब कराया गया। प्रसूता का आरोप है कि प्रसव के पश्चात बच्चे को अस्पताल द्वारा कपड़े एवं किट दिये जाते हैं वो नहीं दिये गए।

इतना ही नहीं इस अस्पताल में पदस्थ एएनएम और नर्स शगुन के नाम पर भी लोगों से रूपए एठने ने नहीं चूकते। इस अस्पताल के हालात यह है के करोडो की लागात से इस अस्पताल की बिल्डिंग का निर्माण तो हो गया है। परंतु इस स्वास्थ्य केन्द्र पर विभाग प्रसूताओं की शौचालय में पानी तक उपलब्ध नहीं करा पा रहा है।

इनका कहना है 
हां यह बात सही है कि यहां हमारी एएनएम डिलेवरी कर रही है। तो क्या हुआ हम क्या करें स्टाफ ही नहीं है। स्टाफ की कमी को लेकर हम कई बार लेटर लिख चुके है। परंतु अभी तक कोई भी उपलब्ध नहीं हो पाई है। अब हम करें तो क्या करें। मैं अभी खुद परेशान हूं मेरी खुद तबीयत खराब हो रही है।अब हम खुद के मरीज देखे या इनको देखें। करें तो क्या करें।
डॉ सुनील गुप्ता, बीएमओ पोहरी।