बड़ी खबर: खनियांधाना में अब कलश के बाद 22 अष्टधातु की मूर्तियां चुरा ले गए चोर | khaniyadhana - Shivpuri Samachar | No 1 News Site for Shivpuri News in Hindi (शिवपुरी समाचार)

Post Top Ad

Your Ad Spot

9/13/2018

बड़ी खबर: खनियांधाना में अब कलश के बाद 22 अष्टधातु की मूर्तियां चुरा ले गए चोर | khaniyadhana

शिवपुरी। जिले के खनियांधाना में लगभग 2 माह पूर्व हुई 15 करोड़ के कलश चोरी के मामले का अभी पुलिस खुलासा नहीं कर सकी। तभी खनियांधाना के ही अचरौनी गांव में चोरों ने जैन मंदिर को निशाना बनाकर चोरों ने मंदिर में रखी अष्टधातु की 22 मूर्तियां चोरी हो गई। इस मामले की सूचना पर खनियांधाना थाना प्रभारी प्रदीप बाल्टर मौके पर पहुंचे और मामले की जांच में जुट गए है। 



जानकारी के अनुसार आज सुुबह सुरेश चंद जैन अछरौनी गांव में मंदिर में दर्शन करने पहुंचे। तभी देखा कि मंदिर में कांच की पेटी में दर्शनार्थ रखी अष्टधातु की लगभग 400 साल पुरानी मूर्तियां गायब है। इस मामले की सूचना सुरेश चंद जैन ने तत्काल ग्रामीणों को दी। ग्रामीणों ने तत्काल इस मामले की सूचना खनियांधाना थाना प्रभारी प्रदीप बाल्टर को दी। प्रदीप बाल्टर तत्काल मय दल के मौके पर पहुंचे।

पिछोर के अनुविभागीय अधिकारी पुलिस आर पी मिश्रा ने बताया कि जैन मंदिर से 22 प्रतिमाएं चोरी गई है यह मंदिर की ऊपरी मंजिल पर कांच के बड़े शोकेस में रखी थी तथा श्रद्धालु इनके दर्शन करते थे पुलिस द्वारा मौके पर पहुंचकर पूरी वारदात की बारीकी से जांच की जा रही है। 

खनियाधाना में बड़ी संख्या में बहुत ही प्राचीन एवं विशाल जैन मंदिर अनेक स्थानों पर हैं यहां पर जैन समाज के बड़े बड़े आयोजन होते आए हैं इन मंदिरों के दर्शन करने दूर दूर से श्रद्धालु खनियाधाना आते हैं पूर्व में भी प्रसिद्ध एवं प्राचीन जैन मंदिर गोलाकोट आदि से  चोरों के गिरोह द्वारा मूर्तियां चुराई गई हैं। 

अभी लगभग दो माह पूर्व खनियाधाना के किले में बने प्राचीन राम मंदिर से चोरों द्वारा सोने का बहुमूल्य मंदिर के शिखर पर लगा छत्र चुरा लिया गया था जिसका अभी तक पता नहीं चला है बीती रात यह दूसरी चोरी की वारदात हुई है। 

इस मामले में खनियांधाना थाना प्रभारी इन मूर्तियों की कीमत 22 हजार रूपए के लगभग बता रहे है। जबकि स्थानीय लोग इन मूर्तियों की कीमत का आंकलन 1 से डेढ करोड़ रूपए बता रहे है। हांलाकि माना जा रहा है कि यह मूर्ति 400 साल पुरानी है तो अंतर्राष्टीय बाजार में इनकी कीमत भी करोड़ में होना तय है। 

इनका कहना है-
हम मामले की जांच कर रहे है। सभी चोरी गई मूर्तियां लगभग 1 से डेढ़ इंच की है। जिससे माना जा रहा है कि उक्त मूर्तियों की कीमत लगभग 22 हजार रूपए है। इस बारदात को अंजाम कुछ नशेलचीयों ने दिाया होगा जिसकी हम जांच कर रहे है। 
प्रदीप वाल्टर, थाना प्रभारी खनियांधाना।

No comments:

Post Top Ad

Your Ad Spot