Ad Code

बड़ी खबर: अवैध संबंधों के चलते हत्या, पुलिस पर मारपीट का आरोप, थाने का घेराव

शिवपुरी। अभी-अभी खबर आ रही है कि जिले के भौंती थाना क्षेत्र के ग्राम ठला में दो पक्षों में अवैध संबंधों के चलते हुई मारपीट में एक युवक की हत्या कर दी। इस मामले में फरियादी पक्ष ने पुलिस पर असुनवाई का आरोप लगाया है। मृतक के परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने इस मामले में मृतक के साथ थाने में मारपीट की थी। उसके बाद मृतक की तबीयत बिगड़ गई और युवक की उपचार के दौरान मौत हो गई। खबर लिखे जाने तक मृतक के परिजन थाने का घेराव कर खड़े हुए है। जानकारी के अनुसार किरण लोधी के पति का दो साल पहले निधन हो गया था। इस निधन के बाद किरण लोधी का संपर्क केशव से हो गया। केशव का किरण के घर आना जाना था। जो आरोपी कल्लू लोधी और उनके परिजनों को नागवार गुजरता। किरण लोधी आरोपीयों की भाभी है। जिससे उन्हें बदनामी के चलते यह सब नागवार गुजरता। 

बीते रोज केशव लोधी किरण के घर पहुंचा। तभी आरोपी कल्लू लोधी अपने साथी बीर सिंह लोधी,फूलसिंह लोधी और ममता लोधी निवासी ढला के साथ एकजुट होकर आरोपीयों ने किरण लोधी और केशव को बांधकर घर में डाल लिया। थाना प्रभारी भौंती राजबीर कटारे ने बताया है कि केशव के बांधने की सूचना देवेन्द्र को मिली तो वह दौडकऱ पहुंचा। जहां आरोपीयों ने देवेन्द्र को भी बांधकर डाल लिया। 

उसके बाद आरोपीयों ने तीनों की जमकर मारपीट की। उसके बाद देवेन्द्र के परिजनों ने उक्त घटना की सूचना डायल 100 को दी। पुलिस तीनों लोगों को आरोपीयों के चंगुल से लेकर थाने पहुंची और चारो आरोपीयों के खिलाफ मामला दर्ज कर उपचार के लिए पिछोर उपस्वास्थ्य केन्द्र भिजवा दिया। जहां देवेन्द्र पुत्र जगत सिंह लोधी की उपचार के दौरान मौत हो गई। मृतक की मौत के बाद मृतक के परिजनों ने भौंती थाने का घेराव कर दिया। परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने थाने में शिकायत करने आए देवेन्द्र के साथ मारपीट कर दी थी। इस मारपीट के चलते देवेन्द्र की मौत हो गई। हांलाकि इस मामले में थाना प्रभारी का कहना है आरोपी इस मामले में 9 आरोपी बनाने का दबाब बना रहे है। 

इनका कहना है-
घटनाक्रम हुआ है जिसमें पुलिस ने तत्काल कार्यवाही करते हुए देवेन्द्र को उपचार के लिए पिछोर भिजवा दिया था। उसके बाद देवेन्द्र की पिछोर में उपचार के दौरान मौत हो गई। जिस पर आरोपी 9 आरोपीयों के नाम बढ़ाने की मांग कर रहे है। अभी उन्हें समझाया जा रहा है। सभी अभी थाने में ही है। 
राजवीर कटारे,थाना प्रभारी भौंती।