शिवपुरी परिवार परामर्श केन्द्र ने प्रदेश में बनाई सर्वश्रेष्ठ पहचान: IG अंशुमन यादव

शिवपुरी ब्यूरो। शिवपुरी में पुलिस परिवार परामर्श केन्द्र में अपने सफलता के नए कीर्तिमान छुए है। इस केन्द्र की पहचान प्रदेश के सर्वश्रेष्ठ केन्द्रों में दर्ज कराई है उक्त बात ग्वालियर जोन के आईजी अंशुमन यादव ने परिवार परामर्श केन्द्र के आयोजित कार्यक्रम में कही। उक्त कार्यक्रम आईजीए नवागत पुलिस अधीक्षक तथा जिला कलेक्टर के स्वागत समारोह एवं निर्वतमान पुलिस अधीक्षक के विदाई के उपलक्ष्य में आयोजित किया गया था। 

आईजी अंशुमन यादव ने कहा कि शिवपुरी की परिवार परामर्श केन्द्र के काउन्सलर बाकेई में बधाई के पात्र हैं। जो शिद्दत के साथ अपने काम को बिना किसी पारिश्रमिक और निस्वार्थ भाव से अंजाम देकर बिछडे हुए परिवारों को मिलाने का काम कर रहे हैं जिसके लिए टीम 31 के सभी सदस्यों को मैं साधुवाद देता हूं। उन्होंने कहा कि ग्वालियर के केन्द्र को उन्नत बनाने के लिए हम शिवपुरी के काउन्सलरों की भी मदद लेंगे। उन्होंने कहाकि पारिवारिक विवाद, छोटे मोटे संपत्ति विवादों को भी सुलझाने में यदि ये केन्द्र मदद करे तो इससे न केवल माननीय न्यायालय का समय बचेगा बल्कि घर का मामला घर में ही सुलझ जायेगा। 

कार्यक्रम का प्रारंभ आईजी अंशुमन यादवए जिला कलेक्टर शिल्पा गुप्ताए नवागत एसपी श्री एवं श्रीमती राजेश हिंगणकरए निवृतमान पुलिस अधीक्षक श्री एवं श्रीमती सुनील पाण्डेय और एडिशनल एसपी कमल मौर्यए के साथ भरत अग्रवाल एवं सुरेशचन्द्र जैन नरवर वालों का पुष्पहारों के द्वारा टीम 31 के सभी सदस्यों ने स्वागत किया। 

अपने स्वागत भाषण में इस केन्द्र के जिला संयोजक आलोक एम इंदौरिया ने इस केन्द्र के प्रारंभ से लेकर अभी तक के इतिहास पर प्रकाश डालते हुए सफलताओं की फेहरिस्त प्रस्तुत की और इस कार्य की चुनौतियों के बारे में प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से टीम 31 के सभी सदस्यों की मेहनत को मैं प्रणाम करता हूं जिनके कारण ये सफलता अर्जित हो पाई। उन्होंने आईजी साहब को बताया कि टीम 31 के द्वारा कर्ई संपत्ति विवाद आपसी समझौते के द्वारा सुलझाने का उल्लेखनीय कार्य किया है। 
नवागत पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर ने अपने उदबोधन में कहा कि मुझे गर्व है कि मैं उसे जिले का पुलिस अधीक्षक बना हूं जो सोशल पुलिसिंग में प्रदेश में अपना खास मुकाम रखता है। वे स्वयं भी एटीएस और रूरल पुलिसिंग के मास्टर कहलाते हैं और सोशल पुलिसिंग में उनका खासा दखल है। उन्होंने कहा कि वे टीम 31 का उपयोग अन्य सामाजिक कार्यों में भी करेंगे ताकि कानून और व्यवस्था की स्थिति के साथ-साथ सामाजिक तौर पर भी यह जिला सशक्त बने।  

इस अवसर पर जिला कलेक्टर शिल्पा गुप्ता ने भी अपने उदबोधन में टीम 31 के द्वारा किए जा रहे कार्यों की प्रशंसा करते हुए अपनी शुभकामनायें प्रेषित की। इस अवसर पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कमल मौर्य ने भी अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम के अंत में आईजी ग्वालियर जोन अंशुमन यादव, नवागत कलेक्टर शिल्पा गुप्ताए नवागत पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर को स्मृति चिन्ह के द्वारा आलोक एम इंदौरिया के द्वारा सम्मानित किया गया और निवर्तमान पुलिस अधीक्षक सुनील पाण्डेय को टीम 31 के सभी सदस्यों के द्वारा स्मृति चिन्ह देकर सम्मान किया। 

परिवार परामर्श केन्द्र के सभी सदस्यों की नई पहल पर शिवपुरी से इंदौर स्थानांतरित हुए टीआई संजय मिश्रा एवं कोलारस से गुना कोतवाली स्थानांतरित हुए टीआई अवनीश शर्मा का शॉल श्रीफल एवं स्मृति चिन्ह देकर आईजी साहब के द्वारा विदाई की गई। 

परिवार परामर्श केन्द्र की इस शानदार पहल का उपस्थित सभी पुलिस कर्मियों ने करतल ध्वनि से स्वागत किया। इस अवसर पर परिवार परामर्श केन्द्र के सभी सदस्य, सभी थाना प्रभारी, जिला विधिक सहायता अधिकारी, डीपीओ सहित विभिन्न सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधि उपस्थित थे। इस कार्यक्रम का सफल संचालन सुप्रसिद्ध समाजसेवी समीर गांधी और आभार प्रदर्शन राजेश गुप्ता राम के द्वारा किया गया। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics