झिरी में लगा तीसरा चलित थाना, एसपी हिंगणकर ने सुनी ग्रामीणों की समस्या

शिवपुरी। पुलिस अधीक्षक शिवपुरी राजेश हिंगणकर द्वारा चलाए जा रहे चलित थाने की तीसरी कड़ी में 28 जुलाई को को पुलिस थाना पोहरी के ग्राम पंचायत झिरी में लगाया गया जहां कनाखेड़ी, परीच्छा, आकुर्सी, बलरामपुरा, नगरा पंचायतों के अनेक ग्राम वासियों द्वारा अपनी-अपनी समस्याऐं पुलिस अधीक्षक को बताई गई। जिसमें पुलिस अधीक्षक द्वारा ग्राम वासियों की समस्याओं का मौके पर ही निराकरण किया गया। इस चलित थाना शिविर में 121 आवेदकों द्वारा अपनी अलग-अलग समस्याओं को लेकर आवेदन पंजीबद्ध कराए गये। चलित थाने में राजस्व से संबंधित, बिजली विभाग से संबंधित वन विभाग, स्वास्थ्य विभाग एवं ग्राम पंचायत से संबंधित शिकायती आवेदन पत्र प्राप्त हुए। 

इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर द्वारा अपने उद्बोधन में कहा कि यह मेरी चलित थाने की तीसरी कड़ी ग्राम झिरी में आयोजित है जिसमें में आपके समक्ष रूबरू होकर आपकी समस्याऐं सुनने व उनका निराकरण करने के लिए आया हूं चलित थाने का उद्देश्य है कि आपके छोटे-छोटे आपसी झगड़ों को लेकर थाने पहुंचते हैं जिससे कि आपका आर्थिक नुकसाान होता है तथा आवेदन टाईप के खर्चे से लेकर कोर्ट के फैसले तक आपका आर्थिक नुकसान होता रहता है। तो क्यों न हम इन छोटे-छोटे मामलों को यहीं निपटाऐं ताकि आपका कीमती वक्त भी बचे और आपको आर्थिक रूप से नुकसान भी न हो, हम छोटे-छोटे झगड़ों में न फसकर अपना धन व समय बच्चों की पड़ाई-लिखाई में लगाऐं उनको इंजीनियर,कलेक्टर और अन्य बड़े अधिकारी बनाऐं।

डायल-100 और सी.एम.हेल्पलाईन-181 व अन्य सुविधाओं की उपयोगिता के बारे में भी बताया। अगर किसी विभाग से परेशानी है वह सही से काम नहीं कर रहा है तो एक शिकायत किसी भी विभाग की हो सी.एम.हेल्पलाईन-181 डायल कर आसानी से हम शिकायत कर सकते हैं पुलिस अधीक्षक का ग्राम झिरी वासियों के लिए व जिले की पूरी जनता के लिए यही संदेश था पारिवारिक और आपसी झगड़ों में न पडक़र अपने बच्चों की पड़ाई लिखाई पर ज्यादा ध्यान दें। शिवपुरी जिले में चलित थाने की कड़ी लगातार जारी रहेगी।

एक अज्ञात वाहन द्वारा विनोद जाटव पिता हरि जाटव निवासी ग्राम आकुर्सी थाना पोहरी का एक्सीडेंट दिनांक 06.06.18 को हुआ था जिसकी आज दिनांक तक उसको राहत राशि नहीं मिली है कार्यवाही की जाए जिस पर पुलिस अधीक्षक के द्वारा फरियादी को राहत राशि 25000/रू दिलवाने के लिए कहा गया। फरियादी कोमलबाई निवासी ग्राम झिरी ने आवेदन दिया कि मेरा देवर कैलाश आए दिन मुझसे गाली गलौच व लड़ाई-झगड़ा करता है कार्यवाही की जाए पुलिस अधीक्षक द्वारा दोंनों पक्षों को बुलवाकर काउंसलिंग करवाई गई, बाद दोंनों पक्षों द्वारा राजीनामा प्रस्तुत किया।

इसी कड़ी में एक आवेदन जानकीलाल जाटव निवासी झिरी ने दिया कि मुन्ना खॉ निवासी झिरी के बिजली के तारों से चिपककर मेरी भैंस मर गई है या तो मुझे भैंस-भैंस के बदले वापस करे या पैसे दे, पर पुलिस अधीक्षक द्वारा दोनों पक्षों को बुलवाकर काउंसलिंग करवाई तो पता चला कि मुन्ना खॉं के द्वारा जानकीला को भैंस के बदले भैंस वापस दे दी गई है दोनों पक्षों द्वारा लिखित में राजीनामा प्रस्तुत किया गया।

इस अवसर पर अति. पुलिस अधीक्षक कमल मौर्य, एस.डी.ओ.पी. पोहरी अशोक घनघोरिया ,थाना प्रभारी पोहरी ए.आर. गौतम, वन विभाग के डिप्टी रेंजर बिजली विभाग के ए.ई., एवं अनुविभाग के समस्त थाना प्रभारी मय बल के एवं स्वास्थ्य विभाग से डॉ. अशोक बंसल, एवं ग्राम पंचायतों से आए हुये सैकड़ों आवेदक उपस्थित रहे।
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

-----------

analytics