जानवरो को पीने के लिए पर्याप्त पानी, शहर की आधी आबादी पानी एक-एक बूंद को तरस रही है...

शिवपुरी। शहर के प्यासे कंठो को के लिए फिर एक ओर बुरी खबर आ रही है, पिछले वर्ष की अल्पवर्षा के कारण माधव लेक फिर खाली हो गया है। इस कारण बाणगंगा पर पंप स्टेशन के पंप बंद हो गए है जिससे बाणगंगा फिल्टर प्लांट से शहर के लिए पानी सप्लाई बंद हो गई है। सोमवार से शहर की आधी आबादी पानी की एक-एक बूुंद को तरस रही है। 

सीएमओ ने कलेक्टर को कराया था अवगत
बताया गया है कि सोमवार को कलेक्ट्रेट में आयोजित टीएल की बैठक में नपा के प्रभारी सीएमओ गोविंद भार्गव ने कलेक्टर शिल्पा को इस माामले से अवगत कराया था।  इस पर कलेक्टर ने जल संसाधन विभाग के अफसरों को चांदपाठा से पानी छोडऩे पत्र लिख दिया, लेकिन सीएमओ की दिनभर की मशक्कत के बाद देर शाम यह तय नहीं हो सका कि चांदपाठा से पानी छोड़ा जाएगा या नहीं। 

यहां बता दें कि 5 जून को चांदपाठा से पानी छोडा गया था। तब जाकर माधव लेक से दस दिन तक पंप स्टेशन से दोनों मोटरें चलाकर पानी की सप्लाई चालू की गई। उसके बाद पानी कम होते ही दो.तीन दन तक एक ही मोटर चलाई जिसे एक-एक घंटे रोककर चला गया। लेकिन पानी नहीं रहने से रविवार की शाम 4 बजे यह मोटर भी बंद करना पड़ी। 

फिल्टर प्लांट से इन क्षेत्रो में होती है सप्लाई 
बाणगंगा फिल्टर प्लांट से पहले मोतीबाबा टंकी भरी जाती है, फिर फिजीकल संप्बेल भरते हैं। दूसरे दिन फिल्टर प्लांट से पुरानी शिवपुरी क्षेत्र में सीधे सप्लाई होती है। जिसमें पुरानी शिवपुरी, नीलगर चौराहा, अहीर मोहल्ला, गणेश गली और काली माता मंदिर सहित अन्य क्षेत्र शामिल हैं। तीसरे दिन कोर्ट रोड, हाथी खाना में पूर्व नपाध्यक्ष जगमोहन सेंगर के घर तक, हम्माल मोहल्ला व अन्य क्षेत्रों में पानी सप्लाई किया जाता है। एक से दो दिन के अंतराल में चार-पांच क्षेत्रों में पानी छोडा जाता है। लेकिन बाणगंगा फिल्टर प्लांट बंद होते ही इन सभी इलाकों में पानी पहुंचा ही नहीं। 

अब इस मामले में बताया जा रहा है कि कलेक्टर शिवपुरी की माधवनेशनल पार्क डारेक्टर से बात नही हो पाई है। वही पार्क की प्रभारी डारेक्टर कमलिा मोहंता द्वारा वरिष्ठ अधिकारियों से चर्चा के बाद ही चांदपाठा तालाब से पानी छोडऩें की बात कही है,ताकि बन्य प्राणियों पर किसी तरह का संकट न आ सके। 

12 घटें का पानी 10 दिन का प्यास बुझा सकता है
चांदपाठा झील से माधव लेक में 12 घंटे के लिए पानी छोडने की मांग की है। यदि मंगलवार को पूरे दिन पानी छोड़ा जाता है तो अगले 8 से 10 दिन के लिए शहर में फिर से सप्लाई चालू हो जाएगी। सीएमओ भार्गव रात 8 बजे सांख्य सागर पर नेशनल पार्क के अधिकारियों के साथ डटे हुए थे।  हालांकि सीएमओ का कहना है कि चांदपाठा में अभी पर्याप्त पानी है। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics