शिवपुरी के उपदेश अवस्थी गूगल सर्च सम्मेलन में

शिवपुरी। लम्बे समय तक प्रतिष्ठित अखबारों में पत्रकारिता करने के बाद 2012 में आॅनलाइन पब्लिकेशन शुरू करने वाले उपदेश अवस्थी ने बीते रोज गूगल सर्च सम्मेलन 2018, गुरुग्राम में भाग लिया। इस सम्मेलन में भारत के कुल 40 लेखकों/पत्रकारों को आमंत्रित किया गया था। यह चुनाव करीब 500 से अधिक लेखकों में से हुआ। सम्मेलन में इंटरनेट में हिंदी भाषा को लेकर डिस्कशन हुआ एवं तय किया गया कि अब भारत में इंटरनेट की मुख्य भाषा हिंदी ही होगी। उपदेश अवस्थी ने लम्बे समय तक शिवपुरी में पत्रकारिता की। श्री अवस्थी भोपालसमाचार.कॉम एवं शिवपुरीसमाचार.कॉम के संस्थापक भी हैं। 

2012 में अपना डिजिटल स्टार्टअप शुरू करने वाले उपदेश अवस्थी ने बताया कि गूगल सर्च कॉन्फ्रेंस 2018, भारत के लिए काफी लाभदायक साबित होगी। इसमें लोगों की जिज्ञासाओं और सवालों के बारे में चर्चा की गई। यह समझने का प्रयास किया गया कि उन्हे क्या जानकारियां चाहिए और वो किन शब्दों में इसे प्राप्त करना चाहते हैं। अध्ययन के दौरान पाया गया कि हिंदी में प्राप्त होने वाले 80 प्रतिशत से ज्यादा सवालों के जवाब गूगल के पास उपलब्ध हैं। शेष जवाब भी जल्द ही उपलब्ध करा दिए जाएंगे। 

हिंदी ने अंग्रेजी को पीछे छोड़ा, अब हिंदी का राज शुरू
उपदेश अवस्थी ने बताया कि दशकों से देश भर में 'हिंदी दिवस' मनाया जाता रहा है। लोग अंग्रेजी के हमले से हिंदी को घायल बताते थे और हिंदी के अस्तित्व को बचाने के लिए संघर्ष छेड़ने की अपील की जाती थी परंतु अब हालात बदल गए हैं। 2014 से 2018 तक इंटरनेट यूजर्स की स्टडी रिपोर्ट बताती है कि भारत में हिंदी में सवाल और जवाब की तलाश का ग्राफ, अंग्रेजी ने ना केवल बहुत ज्यादा बढ़ गया है बल्कि यह बढ़ता ही जा रहा है। इंटरनेट पर अब प्रत्येक 10 में से 7 यूजर्स हिंदी या दूसरी क्षेत्रीय भाषा से आ रहे हैं और वो अपनी ही भाषा में इंटरनेट को पसंद करते हैं। अंग्रेजी के ग्राम में बहुत मामूली बढ़ोत्तरी हुई है।
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics