जिले में किक्रेट का टैलेंट फुस्स: माधवराव स्टेडियम में बंद हो रही है किक्रेट अकादमी

शिवपुरी। पिछले 10 साल से माधवराव सिंधिया खेला परिसर में चल रही मप्र किक्रेट अकादमी से कोई भी खिलाडी नही निकला है। या यू कह लो कि जिले का कोई भी बच्चा इंटरनेश्रल तो छोड़ीए नेशनल स्तर और रणजी भी नही खेल सका। किक्रेट के क्षेत्र में शिवपुरी में टेलेंट की कमी है। इस कारण प्रदेश के खेल एवं युवक कल्याण विभाग ने शिवपुरी में मप्र किक्रेट अकादमी को बंद करने का निर्णय लिया है। 

विभाग की मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने बताया कि बीते 10 सालों में इस अकादमी से कोई भी बडी उपलब्धि हासिल नहीं हो सकी है। इसलिए ये फैसला लेना पड रहा है। उन्होंने कहा कि इस अकादमी के अलावा उनके विभाग द्वारा संचालित की जा रही अन्य सभी अकादमियों में बच्चे राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मेडल जीत कर ला रहे हैं। लेकिन अब तक एक भी उपलब्धि इस अकादमी के खाते में नहीं जा पाई है। ऐसे में विभाग ने इसे बंद करने का फैसला लिया है। 

वही काम करेंगे जिससे शिवपुरी के बच्चों को हो लाभ 
विभाग की मंत्री और शिवपुरी विधायक यशोधरा राजे का कहना है कि हमारी जितनी भी अकादमी चल रही हैं, सभी में बच्चे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शन कर रहे हैं। इस अकादमी को 10 सालों से चला रहे हैं लेकिन एक भी बच्चा अब तक अंतरराष्ट्रीय स्तर तो क्या रणजी तक में नहीं पहुंचा। फिर हम इतना पैसा क्यों खर्च करें। मैं खेल परिसर में वही करूंगी, जिसमें शिवपुरी के बच्चों को लाभ होगा। 

अन्य खेलों पर खर्च करेंगे बजट 
युवक और खेल कल्याण विभाग का कहना है कि इस अकादमी पर खर्च हो रहा बजट अन्य खेलों के विकास पर खर्च किया जाएगा। क्रिकेट के डेवलपमेंट का काम बीसीसीआई के जि मे ही रहेगा। मदनलाल को डेढ़ लाख रुपए प्रति माह की सैलरी दी जाती थी। इस साल मई माह में शुरु होने वाला टैलेंट सर्च शुरु नहीं हुआ। डिस्ट्रिक्ट स्पोटर्स ऑफि सर एमके धौलपुरी का कहना है कि हर साल इन दिनों में शुरु होने वाला टैलेंट सर्च कार्यक्रम शुरु करने के आदेश हमें नहीं मिले हैं। 

Comments

Popular posts from this blog

Antibiotic resistancerising in Helicobacter strains from Karnataka

जानिए कौन हैं शिवपुरी की नई कलेक्टर अनुग्रह पी | Shivpuri News

शिवपरी में पिछले 100 वर्षो से संचालित है रेडलाईट एरिया