नगरपालिका अपने आपको स्वतंत्र न समझे, मैं करूंगी मॉनिटरिंग

शिवपुरी। पत्रकारों द्वारा कलेक्टर शिल्पा गुप्ता से पूछा गया कि क्या नगरपालिका में उनका हस्तक्षेप नहीं है, क्योंकि पूर्व कलेक्टर हमेशा कहते थे कि नगरपालिका स्वतंत्र है और इसमें किसी कलेक्टर का हस्तक्षेप नहीं रहता। इस सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि नगरपालिका अपने आपको स्वतंत्र न समझे, क्योंकि कलेक्टर जिले का होता है और नगरपालिका भी मेेेरे ही अधीन आती है। इसलिए मैं नगरपालिका में भी हस्तक्षेप कर सकती हूं। 

अन्य जिलों की तुलना में शिवपुरी जिले में अमले की कमी नहीं 
कलेक्टर श्रीमति गुप्ता से पत्रकारों ने कहा कि शिवपुरी में अमले की भरमार होने के बावजूद भी यहां कई मामले पेंडिंग पड़े रहते हैं जिस पर कलेक्टर ने कहा कि यह बात सही है कि शिवपुरी में अमले की कमी नहीं है। 

अन्य जिलों की तुलना में यहां बहुत अमला है। डिप्टी कलेक्टर, एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार सभी की कुर्सियां भरी हुई हैं। ऐसी स्थिति में अपने अधीनस्थों का मैं भरपूर लाभ उठाऊंगी और मेरे कार्यकाल में कोई भी मामले लंबित नहीं रहेंगे। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics