रक्तदान करना सबसे पुनीत कार्य है: कलेक्टर तरूण राठी

शिवपुरी। रक्त किसी भी व्यक्ति का जीवन बचा सकता है इसलिए रक्तदान करना पुनीत कार्य है रक्तकोष की पूर्ति के लिए वर्ष में जितने भी रक्तदाताओं ने रक्तदान किया है वह सभी बधाई के पात्र है और यह प्रेरणादायी कार्य है ताकि लोग आगे आकर रक्तदान करें, पूरे वर्ष में 956 यूनिट से ना जाने कितने ही लोगों की जान रक्तपूर्ति के माध्यम से बची होगी, यह सम्मान उन्हीं रक्तदाताों का है इसलिए रक्तदान अवश्य करें। 

रक्तदाताओं का यह मनोबल बढ़ा रहे थे जिला कलेक्टर तरूण राठी जो स्थानीय कल्याणी धर्मशाला में रेडक्रास सोसायटी के स्थापना दिवस पर आयोजित रक्तदाता सम्मान समारोह को मुख्य अतिथि की आसंदी से संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता चेयरमैन दीवान अरविन्द लाल ने जबकि विशिष्ट अतिथि वॉईस चेयरमैन रामशरण अग्रवाल, सिविल सर्जन डॉ.गोविन्द सिंह व रेडक्रास सोसायटी सचिव डॉ.सी.पी.गोयल मंचासीन थे। 

सर्वप्रथम कार्यक्रम की शुरूआत रेडक्रास के संस्थापक सर हेनरी ड्यूनाट एवं डॉ.डी.सी.चौधरी के चित्र पर माल्यार्पण कर हुई। स्वागत भाषण देते हुए रेडक्रास सचिव डॉ.सी.पी.गोयल ने बताया कि वर्ष भर में कुल 35 संस्थाओं जिसमें सर्वाधिक रक्तदान करने वाली संस्था गायत्री परिवार, खनियाधाना रही जिनके द्वारा 105 यूनिट रक्तदान किया गया और कुल वर्ष भर 956 यूनिट रक्तकोष की पूर्ति के लिए रक्तदान के रूप में हुआ। 

इनमें वर्ष भर में चार रक्तदान करने वाले, दो बार के रक्तदाता 161 एवं तीन बार वर्ष के रक्तदाता 24, चार बार के रक्तदाता 21 कुल 206 रक्तदाताओं को रक्तदान करने पर रेडक्रास सोसायटी द्वारा प्रशस्ति पत्र एवं स्मृति चिह्न प्रदान कर सम्मानित किया गया। रेडक्रास के संस्थापक के बारे में सिविल सर्जन डॉ.गोविन्द सिंह ने विस्तार से जानकारी दी। 

कार्यक्रम में नंदकिशोर ढींगरा, डॉ.दिनेश जैन, यशवंत जैन, प्रदीप जैन, श्रीमती शशि अग्रवाल, तुलसीदास विरमानी, नीरज अग्रवाल, एस.के.एस.चौहान, गोविंद सेंगर एवं हरभजन कौर द्वारा अतिथियों का माल्यार्पण कर स्वागत किया गया। कार्यक्रम का संचालन एसकेएस चौहान ने जबकि आभार प्रदर्शन वॉईस चेयरमैन रामशरण अग्रवाल द्वारा व्यक्त किया गया। 
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics