कलेक्टर की फटकार: सिंध का पानी खूबत घाटी पहुंचा, टोंटियों तक पहुंचने करना होगा इंतजार

शिवपुरी। सिंध नदी का पानी दो अप्रैल तक शिवपुरी बायपास पर नहीं पहुंचने के बाद कलेक्टर तरूण राठी नगरपालिका अधिकारियों के साथ दोशियान के अधिकारियों से चर्चा करने के लिए फिल्टर प्लांट जा पहुंचे जहां कलेक्टर ने दोशियान अधिकारियों से सीधी-सीधी बात करते हुए कहा कि आपको नियमित रूप से भुगतान हो रहा है। हाल ही में चालीस लाख रूपए का भुगतान किया गया है, लेकिन इसके बाद भी तारीख पर तारीख निकलती जा रही हैं और सिंध नदी का पानी बायपास तक नहीं पहुंच रहा है। 

उन्होंने दो टूक अंदाज में दोशियान के महाप्रबंधक महेश मिश्रा से पूछा कि मुझे बताओ कि पानी पहुंचा पाओगे या नहीं या इसी तरह खोलते और बंद करते रहोगे। पैसा तमाम ले लिया, लेकिन रत्ती भर भी काम नहीं किया। कलेक्टर की फटकार का असर यह हुआ कि दोशियान की पूरी टीम आज पानी शिवपुरी पहुंचाने में जुट गई है। समाचार लिखे जाने तक सिंध नदी का पानी फिल्टर प्लांट से खूबत घाटी तक पहुंच गया और इस दौरान एक लीकेज हुआ है जिसे ठीक करने में दोशियान के कर्मचारी लगे हुए हैं। दोशियान का कथन है कि यदि सबकुछ ठीक रहा तो आज शाम तक बायपास पर पानी पहुंच जाएगा। 

कलेक्टर तरूण राठी ने कल दोशियान से स्पष्ट कहा था कि कल रात दस बजे तक हर हालत में शिवपुरी पानी पहुंचाना उनकी जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि नाटक बहुत हो गया अब पानी आए और वह भी रैग्यूलर चले, अन्यथा हमें लग रहा है कि हम इस प्रोजेक्ट में सिर्फ इन्वेस्ट कर रहे हैं और रिटर्न बिल्कुल भी नहीं है। चालीस लाख रूपए भेज दिए गए हैं। एयर बॉल्व और सर्ज सॉफ्ट लगवाओ ताकि लीकेज समस्या का निराकरण हो सके। 

कलेक्टर की फटकार का असर यह हुआ कि आज सुबह 9 बजे फिल्टर प्लांट से पानी शिवपुरी बायपास के लिए छोड़ दिया गया और आज साढ़े बारह बजे के लगभग बताया जाता है कि पानी खूबत घाटी तक पहुंच गया। इसके बाद एमएस पाइप और जीआरपी पाइप के ज्वांइट पर लीकेज आ गया। जिसे ठीक करने में दोशियान की टीम जुटी हुई है। उन्होंने बताया कि दो बजे तक वह लीकज ठीक कर देंगे ओर सबकुछ ठीक रहा तो शाम चार बजे तक पानी शिवपुरी पहुंच जाएगा। जिसका शिवपुरी की जनता बेसब्री से इंतजार कर रही है। 

एयर बॉल्व और सर्ज सॉफ्ट से होगा लीकेज समस्या का निराकरण 
दोशियान ने बताया कि लीकेज समस्या से मुक्ति के लिए वह फिल्टर प्लांट से बायपास तक आठ एयर बॉल्व लगा रही है। ताकि हवा का दबाव पडऩे पर लाइन में लीकेज न हो। वहीं पानी की टंकी में पानी चढ़ाने के लिए दो सर्ज सॉफ्ट लगाए जा रहे हैं। देखना अब यह है कि इस तकनीक का कितना फायदा होता है। 

Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics