रेलवे जीएम को भेजा पत्र, कहा दिल्ली-मुंबई ट्रेन रुके बदरवास में, प्लेटफार्म भी बड़ा किया जाए

बदरवास। जिले के बड़े व्यापारिक केंद्र तथा महत्वपूर्ण तहसील मुख्यालय बदरवास के रेलवे स्टेशन पर दिल्ली, मुंबई जाने वाली ट्रेनों के स्टॉपेज न होने, प्लेटफार्म का विस्तार तथा टीनशेड सहित अन्य यात्री सुविधाओं की कमी है। जिससे यात्रियों को काफी असुविधाओं का सामना करना पड़ता है। वहीं प्लेटफार्म भी काफी छोटा है जिससे बदरवास से जाने वाले यात्रियों को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। रेलवे सुविधाओं के लिए लगातार  प्रयासरत रेलवे सुविधा संघर्ष समिति ने बदरवास रेल स्टेशन पर यात्री सुविधाओं में बढ़ोत्तरी करने हेतु एक मांग पत्र रेल मंत्री, रेलवे बोर्ड और पश्चिम मध्य रेलवे के जीएम तथा डीआरएम को भेजा है।

जानकारी देते हुए समिति के गोविंद अवस्थी ने बताया कि बदरवास नगर गुना-इटावा रेल लाइन का  महत्वपूर्ण  स्टेशन  होकर शिवपुरी और गुना दो जिला मुख्यालयों के मध्य में स्थित है और दो सैकड़ा गांवों की लगभग तीन लाख से अधिक जनसंख्या बदरवास से जुड़ी हुई है। बदरवास महत्वपूर्ण व्यापारिक नगर होने के साथ यहां की मंडी और जैकेट उद्योग काफी प्रसिद्ध है। 

बदरवास स्टेशन पर दिल्ली और मुंबई जाने हेतु एक्सप्रेस ट्रेनों के स्टॉपेज यहां नहीं है। साथ ही प्लेटफार्म भी छोटा होकर काफी नीचा है जो कि बारह डिब्बे रुकने की क्षमता का है जबकि यहां चौबीस डिब्बों की ट्रेन रुकती हैं जिसके आधे डिब्बे प्लेटफार्म के बाहर निकल जाते हैं। नागरिकों की सुविधाओं को मद्देनजर रखते हुए रेलवे द्वारा अनेक रेलगाडियां चलाई तो जा रही हैं लेकिन यहां से गुजरने वाली इंदौर-अमृतसर एक्सप्रेस,  देहरादून एक्सप्रेस, चंडीगढ़ एक्सप्रेस और बांद्रा का बदरवास में स्टॉपेज करने को लेकर लंबे समय से मांग की जा रही है जिससे क्षेत्रीय लोगों को इनका लाभ मिल  सके। साथ ही प्लेटफार्म की लंबाई और ऊंचाई बढ़ाकर इसका विस्तार हो और धूप, बारिश से बचाव हेतु टीनशेड की भी आवश्यकता है।

मांगपत्र में ये हैं महत्वपूर्ण बिंदु
दिल्ली, मथुरा जाने के लिए अमृतसर एक्सप्रेस, देहरादून एक्सप्रेस या चंडीगढ़ एक्सप्रेस का ठहराव किया जाए।
गुजरात, मुम्बई हेतु झांसी -बांद्रा या ग्वालियर-पुणे एक्सप्रेस का बदरवास स्टेशन पर स्टॉपेज किया जाए।
स्टेशन के प्लेटफार्म पर टीनशेड हो तथा प्लेटफार्म का विस्तार कर इसकी ऊंचाई और लंबाई बढ़ाई जाए जिससे यात्रियों को चढ़ने और उतरने में सुविधा मिले तथा वे चोटिल होने से बच सकें।
गुना-ग्वालियर के बीच दिन में एक पैसेंजर गाडी चलाई जाये।
स्टेशन के बाहर पार्क बनाया जाए जिससे यात्रियों को सुविधा मिल सके।
बदरवास स्टेशन से भिंड/ग्वालियर- रतलाम इंटरसिटी एक्सप्रेस में सीटों का कोटा आरक्षित किया जाए।
Share on Google Plus

Legal Notice

Legal Notice: This is a Copyright Act protected news / article. Copying it without permission will be processed under the Copyright Act..

0 comments:

Loading...
-----------

analytics